जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
शहाबगंज पुलिस का सराहनीय कदम, सड़क पर तड़प रहे घायलों को अपनी गाड़ी से पहुंचाया अस्पताल
राममाड़ो गांव निवासी अनिल गोंड के दामाद वीरेंद्र (32 वर्ष) व लड़का अंकित (12 वर्ष) विशुनपुरा मुर्गा लेने गए थे। वापस घर आते समय बाइक सवार को तेज रफ्तार बोलरो ने धक्का मार कर फरार हो गया।
 

चंदौली जिले के शहाबगंज थाना क्षेत्र के जमोखर गाँव के पास चकिया-चन्दौली मार्ग पर रविवार को देर शाम सड़क दुर्घटना में घायल होकर तड़प  रहे जीजा साले को पुलिस ने निजी वाहन से स्थानीय प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पहुंचाया, जहां प्राथमिक उपचार के बाद चिकित्सक ने जिला चिकित्सालय के लिए रेफर कर दिया। 

राममाड़ो गांव निवासी अनिल गोंड के दामाद वीरेंद्र (32 वर्ष) व लड़का अंकित (12 वर्ष) विशुनपुरा मुर्गा लेने गए थे। वापस घर आते समय बाइक सवार को तेज रफ्तार बोलरो ने धक्का मार कर फरार हो गया। जहां अंकित व उसका जीजा वीरेन्द्र गंभीर रूप से घायल हो गए और सड़क पर तड़प रहे थे। इसी दौरान प्रभारी निरीक्षक शहाबगंज राजेश कुमार मय फोर्स के साथ चंदौली डयूटी से वापस थाने आ रहे थे। सड़क दुर्घटना में घायल दो लोगों को देखकर तुरन्त रुक गए और पुलिस ने मानवीय चेहरा दिखाते हुए दोनों घायलों को निजी वाहन से स्थानीय प्राथमिक केन्द्र पहुंचाया।

भर्ती कराने के बाद स्वयं अस्पताल पहुंचकर घायलों का इलाज के दौरान सहयोग किया और घायलों के परिजनों को सूचना देकर बुलवाया। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के चिकित्सक ने प्राथमिक उपचार के बाद गम्भीर स्थिति को देखते हुए दोनों को जिला अस्पताल रेफर कर दिया। चिकित्सक के अनुसार अगर समय से घायल अस्पताल न पहुंचते तो स्थिति और भी गंभीर हो सकती थी। पुलिस के मानवीय चेहरा की लोग सराहना कर रहे हैं। 

इस दौरान शब्बीर, मिथिलेश  कुमार, श्रीराम यादव, मनीष यादव, गौरव शुक्ला आदि पुलिसकर्मी मौजूद थे।

चंदौली जिले की खबरों को सबसे पहले पढ़ने और जानने के लिए चंदौली समाचार के टेलीग्राम से जुड़े।*