जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
चकिया में मनाया गया ऐतिहासिक डाला छठ का पर्व, गोताखोरों के साथ ड्रोन कैमरे से रखी जा रही थी नजर

मां काली मंदिर पोखरा पर जय मां काली सेवा समिति सहदुल्लापुर तथा युगांधर सेवा समिति चकिया द्वारा छठ पर्व के लिए अलग-अलग व्यवस्थाएं की गई थी।

 

चकिया में मनाया गया ऐतिहासिक डाला छठ का पर्व

गोताखोरों के साथ ड्रोन कैमरे से रखी जा रही थी नजर

ग्रामीण अंचलों में भी रही डाला छठ की धूम

देखिए तस्वीरें कैसे मनाया गया छठ का पर्व

चंदौली जिले के चकिया नगर सहित ग्रामीण अंचलों में लोक आस्था का महापर्व डाला छठ की बुधवार की शाम धूम रही। चकिया नगर के मां काली मंदिर पोखरा, सिकंदरपुर, शिकारगंज का ऐतिहासिक पोखरा, शहाबगंज, इलिया कस्बा, बरियारपुर, रोहाखी, खखड़ा, कलानी, बेन, तियरी,  खरौझा, बसाढ़ी, बरहुआ, उसरी, गांधीनगर, मंगरौर सहित विभिन्न गांवों में बैंड बाजा के साथ महिलाएं छठ मैया के गीत गाते घाट तक पहुंच रही थी, तो वहीं चकिया नगर तथा इलिया कस्बा में महिला घर से जमीन पर लेट कर दंडवत करते हुए कठिन तप कर घाट तक पहुंची।

Dala Chhath festival celebrated in Chakia

चकिया नगर में अबकी बार डाला छठ का पर्व ऐतिहासिक ढंग से मनाया गया। यहां मां काली मंदिर पोखरा पर जय मां काली सेवा समिति सहदुल्लापुर तथा युगांधर सेवा समिति चकिया द्वारा छठ पर्व के लिए अलग-अलग व्यवस्थाएं की गई थी। जय मां काली सेवा समिति की ओर से सपा नेता इंजीनियर प्रवीण सोनकर ने फीता काटा तो वही युगांधर सेवा समिति की ओर से विधायक शारदा प्रसाद में फीता काटकर छठ पूजा का शुभारंभ किया। अबकी बार ब्रतियों की सुरक्षा के लिए पोखरे में नौका की व्यवस्था की गई थी जिस पर गोताखोर सवार रहे तो वहीं सुरक्षा व्यवस्था के लिए ड्रोन कैमरे से नजर रखी जा रही थी।

Dala Chhath festival celebrated in Chakia

  घाटों पर पहुंची व्रती महिलाएं दीपक जलाकर पूजन अर्चन कर व्रती  कमर भर पानी में खड़ा होकर सूर्य देव के अस्त होने का इंतजार करती रही। इस दौरान घाटों पर बज रहे गीत "कांचे ही बांस के बहंगिया बहंगी लचकत जाए"आदि छठ मैया के गीत बज रहे थे। जिससे पूरा माहौल भक्तिमय हो उठा था। वहीं जैसे लालिमा लेकर सूर्यदेव बादलों में छुपना शुरू हुए कि महिलाओं ने अर्ध देकर पूजन अर्चन किया। इस दौरान व्रतियों के परिवार के लोग के घाटों पर भारी संख्या में उपस्थित होने से काफी भीड़भाड़ रही, वहीं सुरक्षा व्यवस्था में जगह-जगह पुलिस बल तैनात रही। इसके अलावा करनौल, सैदूपुर में महिलाएं अपने घर की छतों पर छठ पूजा कर डूबते हुए सूर्य को अर्घ्य दी।

Dala Chhath festival celebrated in Chakia

ग्राम सभा ददरा में डाला छठ करते हुए ग्राम प्रधान साधना यादव व समेत कई गाँववाशियो भी डाला छठ की पूजन कर रही है। इसके साथ ही में समस्त ग्रामवासीयो को डाला छठ की हार्दिक शुभकामनाएं दी और ग्राम प्रधान पति धीरेन्द्र यादव छठ करने वाली महिलाओं को फल वितरण भी करवाए। ग्रामवाशियो समेत किशन सिंह, दीपक सिंह, सौरभ सिंह,हृषिकेश बहादुर सिंह, अभिषेक पाठक, प्रधानपति धीरेन्द्र यादव(पप्पू) ,मंगेटु तिवारी, मदन प्रजापति,नरेश विश्वकर्मा, प्रमोद बिन्द आदी लोग भी मौजूद रहे।

Dala Chhath festival celebrated in Chakia

Dala Chhath festival celebrated in Chakia