जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
झोला छाप डॉक्टर के खिलाफ कार्रवाई, टीम ने मारा था छापा
गांव निवासी डा मुनजाम शरीफ बिना पंजीकरण के रोगियों का इलाज व दवा बेचने का काम करते हैं। मामले को देखते हुए एसडीएम सदर ने सीएमओ को जांच करने का निर्देश दिया था।
 

चंदौली जिले के एडिशनल सीएमओ पीटी उपाध्याय के नेतृत्व में विभाग ने ग्रामीणों के शिकायत पर असना गांव में बिना पंजीकरण के चल रहे अस्पताल का जांच पड़ताल किया था। इस दौरान जांच टीम ने असना निवासी झोला छाप चिकित्सक मुनजाम शरीफ को अस्पताल चलाने व मरीज़ो को दवा देने के मामले को सही पाया। बरहनी पीएचसी प्रभारी डा शैलेंद्र कुमार के तहरीर पर कन्दवा पुलिस ने चिकित्सक के ऊपर विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्जकर लिया। वहीं आरोपित चिकित्सक को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस दबिश दे रही है।

असना निवासिनी बिट्टू बानो ने बीते दिनों तहसील दिवस में प्रार्थना पत्र देकर शिकायत किया था। आरोप लगाया था कि गांव निवासी डा मुनजाम शरीफ बिना पंजीकरण के रोगियों का इलाज व दवा बेचने का काम करते हैं। मामले को देखते हुए एसडीएम सदर ने सीएमओ को जांच करने का निर्देश दिया था। सीएमओ के निर्देश पर एडिशनल सीएमओ पीटी उपाध्याय व बरहनी पीएचसी प्रभारी डा शैलेन्द्र कुमार ने असना गांव पहुंचकर मामले का जांच पड़ताल किया। 

मौके पर चिकित्सक को बिना पंजीकरण के मरीज़ों का इलाज व दवा देने की शिकायत को सही पाया था। चिकित्सकीय अधिकारियों के जांच की खबर से बरहनी विकास खण्ड के झोलाछाप चिकित्सकों में हड़कंप मचा हुआ है। अधिकारियों ने कहा कि यह कार्रवाई आगे भी जारी रहेगी।

चंदौली जिले की खबरों को सबसे पहले पढ़ने और जानने के लिए चंदौली समाचार के टेलीग्राम से जुड़े।*