जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
मनराजपुर कांड: हत्या की गुत्थी सुलझाने के लिए CBCID करेगी जांच
चंदौली जिले के सैयदराजा थाना क्षेत्र के मनराजपुर में हुई निशा यादव की हत्या के मामले में अब उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा मामले की जांच सीबीसीआईडी को सौंपी गई है। जिसमें अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने इसके आदेश जारी कर दिए
 
उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा मामले की जांच सीबीसीआईडी को सौंपी गई है

चंदौली जिले के सैयदराजा थाना क्षेत्र के मनराजपुर में हुई निशा यादव की हत्या के मामले में अब उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा मामले की जांच सीबीसीआईडी को सौंपी गई है। जिसमें अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने इसके आदेश जारी कर दिए हैं।

बता दें कि एक मई को पुलिस की दबिश के बाद गुड़िया यादव की हत्या होने का आरोप पुलिस पर लगाया जा रहा है जिसको लेकर पूरे प्रदेश में इस मामले की किरकिरी होती रही । 

प्रदेश सरकार ने संज्ञान में लेते हुए चंदौली में दबिश के दौरान हुई निशा यादव के मौत के मामले में अब सीबीसीआईडी से जांच कराने का फैसला लिया गया है।
 जिस पर अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने मंगलवार को इसके आदेश जारी कर दिए हैं इस घटना में छह पुलिसकर्मियों पर पहले से ही मुकदमा दर्ज है ।

1 मई को चंदौली जिले के सैयदराजा थाना क्षेत्र के जिला बदर कन्हैया यादव को जिले में आने की सूचना मिलने पर  गिरफ्तार करने के लिए सैयदराजा पुलिस की टीम उनके घर पर गई थी।

आरोप है कि दबिश देने गए पुलिसकर्मियों ने कन्हैया यादव की दोनों बेटियों से मारपीट की जिससे एक बेटी निशा यादव की मौत हो गई ।घटना के बाद शोरगुल होने तथा मामले को तूल पकड़ने पर मौके पर पहुंचे पुलिस अधीक्षक ने हालात की नजाकत को देखते हुए तत्काल प्रभाव से सैयदराजा थाना प्रभारी उदय प्रताप सिंह को निलंबित कर दिया और पुलिस कर्मियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दिया गया ।

इस घटना को लेकर सपा और आप पार्टी सरकार को घेरने का कार्य शुरू कर दिया था वही सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव सोमवार को पीड़ित के घर पहुंचे थे।

इस मामले की राजनीत काफी गर्म हो चुकी है, इसको देखते हुए सरकार ने इस घटना की जांच सीबीसीआईडी से कराने का फैसला ले लिया है ।

जिसमें अब जल्द ही विवेचन नियुक्त कर मामले की जांच शुरू हो जाएगी और दूध का दूध ,पानी का पानी हो जाएगा।अब देखना है कि कन्हैया यादव की बड़ी पुत्री की हत्या के मामले में कौन-कौन लोग दोषी पाए जाते हैं ।

वही लगातार पुलिस द्वारा यह भी कहा जा रहा है कि मेरे  दबिश के दौरान यह घटना नहीं घटित हुई है जिस को देखते हुए उत्तर प्रदेश शासन का सीबीसीआईडी से जांच कर फैसला कराने और पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार की यह पहल कहीं ना कहीं पीड़ित परिवार के लिए लाभदायक होगी और हत्यारों को सजा भी मिलेगी।