जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
सर्व शिक्षा अभियान नामांकन में चंदौली 14वें नंबर पर, जानिए कौन जिला है नंबर 1 ​​​​​​​
बेसिक शिक्षा अधिकारी सत्येंद्र सिंह का कहना है कि प्रगति रिपोर्ट से हौसला बढ़ा है। सभी खंड शिक्षा अधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि वे 15 मई तक लक्ष्य को पूर्ण करा लें।
 

नामांकन में धानापुर सबसे आगे, चहनिया का परफॉर्मेंस सबसे खराब, जानिए बाकी ब्लॉकों को का क्या रहा है हाल 

 

सरकारी विद्यालयों में नवीन बच्चों के नामांकन के लिए पूरे प्रदेश में चलाए जा रहे स्कूल चलो अभियान में चंदौली को 14 वां स्थान मिला है। बेसिक शिक्षा निदेशक की ओर से रविवार को जारी रिपोर्ट में बताया गया कि जिले में अप्रैल माह में कुल 91.05 फीसद नवीन नामांकन हुआ है। चंदौली को शैक्षणिक सत्र में 44689 नामांकन का लक्ष्य दिया गया है। अप्रैल माह तक 40680 नामांकन हो चुका है। नामांकन में 113.77 प्रतिशत के साथ धानापुर प्रथम और 70.08 फीसद के साथ चहनिया ब्लॉक सबसे नीचे है।

उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से पूरे प्रदेश में स्कूल चलो अभियान चलाया जा रहा है। इसका उदेश्य ज्यादा से ज्यादा बच्चों का स्कूल में नामांकन कराना है। प्रदेश के सभी जिलों और उनमें भी ब्लॉकों को नामांकन का लक्ष्य दिया गया है। रविवार को शिक्षा निदेशक की ओर से जारी प्रदेश के सभी जिलों की प्रगति रिपोर्ट में चंदौली को 14 वां स्थान मिला। जबकि पहले स्थान पर वाराणसी, दूसरे पर जौनपुर और तीसरे स्थान पर भदोही है। 

Students Nomination

चंदौली को इस शैक्षणिक सत्र में 44,689 नामांकन का लक्ष्य दिया गया है। अप्रैल माह तक 40,680 यानि कुल 91.05 फीसद नामांकन हो चुका है। वहीं नामांकन में जिले के नौ ब्लाकों की प्रगति रिपोर्ट में 113.77 प्रतिशत के साथ धानापुर प्रथम और 70.08 फीसदी के साथ चहनिया ब्लाक सबसे नीचे है। वहीं चकिया ब्लाक में 88.05, शहाबगंज में 90.69, नौगढ़ में 87.03, नियामताबाद में 97.63, बरहनी में 95.41 फीसदी, सदर में 80.56 फीसदी, सकलडीहा में 91.05 फीसदी और पीडीडीयू नगर में 91.53 फीसदी नामांकन हुआ है।

बेसिक शिक्षा अधिकारी सत्येंद्र सिंह का कहना है कि प्रगति रिपोर्ट से हौसला बढ़ा है। सभी खंड शिक्षा अधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि वे 15 मई तक लक्ष्य को पूर्ण करा लें। समस्त प्रधानाध्यापकों को निर्देश दिया गया है कि वे एक पत्र लिखकर बीईओ के माध्यम से हमें भेजेंगे जिसमें यह जिक्र होगा कि विद्यालय जहां स्थित है उस गांव में छह से 14 आयु का कोई भी बिना नामांकन के नहीं है। चहनिया की रिपोर्ट बेहतर नहीं है, वहां के खंड शिक्षा अधिकारी को जल्द से जल्द लक्ष्य पूरा करने का निर्देश दिया गया है।