जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
उच्च प्राथमिक विद्यालय जसुरी में मनाया गया बाल दिवस, प्राथमिक के बच्चे भी हुए शामिल
पंडित जवाहरलाल नेहरू का जन्म 14 नवंबर 1889 को हुआ था। वह बच्चों से बहुत प्यार करते थे। उन्हें गुलाब भी बहुत पसंद थे। इसलिए उनके कोर्ट की जेब में हमेशा एक गुलाब रहता था। वह हर बच्चे को भारत का भविष्य मानते थे।
 

भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू की जयंती

तैलचित्र पर श्रद्धा सुमन अर्पित करके किया गया याद

चंदौली जिला मुख्यालय स्थित ग्राम जसुरी में प्राथमिक व उच्च विद्यालय में सामूहिक रूप से भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू की जयंती को बाल दिवस के रूप में मनाया गया। इस दौरान बच्चों में खेल के सामान बांटे गए।

इस मौके पर प्रधानाचार्य राम अवतार यादव ने कहा कि पंडित जवाहर लाल नेहरू स्वतंत्र भारत के पहले प्रधानमंत्री बने थे। उन्हें बच्चों से इतना प्यार था कि उन्हें बच्चे चाचा नेहरू के नाम से पुकारा करते थे। यही वजह रही कि भारत की संसद ने उनके जन्मदिन 14 नवंबर को भारत में बाल दिवस के रूप में मनाने का फैसला किया। उनके मन में बच्चों के लिए अपार प्यार और सम्मान था और वह उन्हें हमारे देश का भविष्य मानते थे। इस प्रकार, भारत में 14 नवंबर को बाल दिवस के रूप में मनाया जाने लगा।

Children Day

पंडित जवाहरलाल नेहरू का जन्म 14 नवंबर 1889 को हुआ था। वह बच्चों से बहुत प्यार करते थे। उन्हें गुलाब भी बहुत पसंद थे। इसलिए उनके कोर्ट की जेब में हमेशा एक गुलाब रहता था। वह हर बच्चे को भारत का भविष्य मानते थे। इसलिए उनका मानना ​​था कि उनके साथ अच्छा व्यवहार किया जाना चाहिए और उन्हें शिक्षित किया जाना चाहिए।

इस मौके पर अनुदेशक धर्मेंद्र ने कहा कि पंडित जवाहर लाल नेहरू ने अपने एक प्रसिद्ध भाषण में कहा था कि आज के बच्चे कल का भारत होंगे। जिस तरह से हम उनका पालन-पोषण करेंगे, उससे देश का भविष्य तय होगा।

 इस मौके पर  प्रधानाध्यापक इंचार्ज राम अवतार यादव, सहायक अध्यापक भोलानाथ साहू, सोनाली श्रीवास्तव ,अनुदेशक धर्मेंद्र यादव ,अमरकांत शर्मा, संतोष श्रीवास्तव, प्राथमिक विद्यालय सहायक अध्यापक सुचिता सिंह, राजेश सिंह, सोनाक्षी मौर्य, कुश गुप्ता उपस्थित थे।  छात्रों ने इस दौरान खेलकूद में भी प्रतिभाग किया। ऋषिकेश यादव, नितिन मौर्य, रुचि, दिव्यांशु पासवान, सौरभ पासवान, मनजीत कुमार ने खेल  का आनंद लिया।

चंदौली जिले की खबरों को सबसे पहले पढ़ने और जानने के लिए चंदौली समाचार के टेलीग्राम से जुड़े।*