जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
1 जुलाई से 31 जुलाई तक चलेगा अभियान, स्वास्थ्य विभाग कर रहा है तैयारी
संचारी रोग नियंत्रण अभियान/दस्तक अभियान का द्वितीय चरण 01 जुलाई से वृहद स्तर पर अभियान चलाया जाएगा। जिसमें आशा एवं आंगनबाड़ी कार्यकत्री प्रत्येक घर-घर जाकर दिमागी बुखार एवं अन्य संक्रामक रोगों संबंधित जागरूकता बढ़ाने और बचाव उपचार संदेश का प्रचार-प्रसार करेंगे,
 

जिले में चलेगा संचारी व दस्तक अभियान,  सैम-मैम बच्चों को चिन्हित करने की तैयारी

चंदौली के जिलाधिकारी संजीव सिंह की अध्यक्षता में संचारी रोग नियंत्रण दस्तक अभियान से संबंधित बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में संपन्न हुई। दिनांक 1 जुलाई 2022 से 31 जुलाई 2022 तक जनपद में संचारी अभियान के रूप में मनाया जाएगा। साथ ही दिनांक 16 जुलाई 2022 से 31 जुलाई 2022 तक दस्तक अभियान भी चलाया जायेगा।

 संचारी रोग नियंत्रण अभियान/दस्तक अभियान का द्वितीय चरण 01 जुलाई से वृहद स्तर पर अभियान चलाया जाएगा। जिसमें आशा एवं आंगनबाड़ी कार्यकत्री प्रत्येक घर-घर जाकर दिमागी बुखार एवं अन्य संक्रामक रोगों संबंधित जागरूकता बढ़ाने और बचाव उपचार संदेश का प्रचार-प्रसार करेंगे, बुखार के रोगियों, कुपोषित बच्चों, टी.वी. के मरीजों सहित अन्य गंभीर बीमारियों से परेशान व्यक्तियों का चिन्हित करते हुए की उचित कार्रवाई संबंधित विभाग के द्वारा सुनिश्चित की जाएगी।

 जिलाधिकारी ने मलेरिया विभाग के अधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि अपने कार्यकर्ता एवं स्टाफ को क्षेत्रवार योजना बनाते हुए विगत वर्ष के मच्छर जनित रोगों के आंकड़ों के आधार पर चिन्हित किए गए हाईरिस्ट क्षेत्रों में बेक्टर घनत्व का आकलन भी करेंगे। साथ ही घरों के भीतर मच्छरों का प्रजनन न होने पाए इसके लिए बचाव के लिए मच्छर नियंत्रण गतिविधियां संपादित करने हेतु संबंधित विभागों को आवश्यक कार्रवाई हेतु निर्देशित किया। 

DM CMO Meeting

 

जिलाधिकारी ने कहा कि सभी विभाग आपसी समन्वय बनाकर संचारी रोग नियंत्रण/ दस्तक अभियान में अपनी अहम भूमिका निभाये। इस अभियान में आशा एवं आंगनवाड़ी का महत्वपूर्ण भूमिका है स्वास्थ्य विभाग पूरी गंभीरता से उनको इस कार्य में लगाएं और समय-समय पर उचित दिशा निर्देश भी दिए जाएं। 

सैम-मैम बच्चों को चिन्हित कर उन्हें एन.आर.सी. में भर्ती कराकर उचित देखभाल सुनिश्चित किया जाए। शिक्षा विभाग को निर्देशित करते हुए कहा कि कोविड-19 दिमागी बुखार एवं अन्य संचारी रोगों से बचाव, रोकथाम एवं उपचार हेतु संवेदीकरण किया जाए। स्वच्छ पीने का पानी, शौचालय का प्रयोग, खुले में शौच के नुकसान, हर बुखार खतरनाक हो सकता है बुखार होने पर "क्या करें, क्या ना करें" के विषय में जागरूक करें। 

कृषि विभाग एवं अधिशासी अभियंता सिंचाई को निर्देशित करते हुए कहा कि नहरो के किनारे उगी झाड़ियों को वृहद स्तर पर साफ-सफाई किया जाए। जमे हुए पानी में मच्छरों के प्रजनन को रोकने तथा सिंचाई के सुविधा हो सके। अधिशासी अधिकारी एवं जिला पंचायत राज अधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि बाजारों एवं समस्त ग्राम पंचायतों में वृहद स्तर पर कलस्टर वाइज सफाई अभियान सुनिश्चित किया जाए। खुली नालियों को ढकने की व्यवस्था, कचरो की सफाई करवाना, शहरी क्षेत्रों में फागिंग करवाना सहित अन्य गतिविधियों को समय से सुनिश्चित किया जाए। 

जिलाधिकारी ने मुख्य पशु चिकित्साधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि मनुष्य आबादी से 500 मीटर दूर सूकर पालन कराया जाए। सूकर पालकों को सूकर बाड़े की साफ-सफाई, कीटनाशक छिड़काव एवं जाली से ढकने हेतु लोगों को प्रशिक्षित किया जाए। सभी प्रकार के पशु बाड़ो की स्वच्छता, कचरा निस्तारण तथा जाली के प्रयोग हेतु पशुपालकों को जागरूक किया जाए। उद्यान विभाग को निर्देशित करते हुए कहा कि सार्वजनिक उद्यानों एवं विद्यालयों में मच्छर विकर्षि पौधों का रोपण जगह-जगह सुनिश्चित हो। 
जिलाधिकारी ने समस्त खंड विकास अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि सभी ग्राम प्रधानों को निर्देशित किया जाए की गांव की सभी नालों एवं नालियों को बारिश होने से पहले पूरी तरह साफ-सफाई सुनिश्चित हो ताकि बारिश में पानी एकत्रित न हो। 
        
बैठक के दौरान मुख्य विकास अधिकारी अजितेंद्र नारायण, प्रभागीय वनाधिकारी, मुख्य चिकित्साधिकारी, पीडी डीआरडीए, उप जिलाधिकारी सदर, जिला विद्यालय निरीक्षक, जिला पंचायत राज अधिकारी सहित अन्य संबंधित अधिकारीगण उपस्थित रहे।

चंदौली जिले की खबरों को सबसे पहले पढ़ने और जानने के लिए चंदौली समाचार के टेलीग्राम से जुड़े।*