जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
आधे से अधिक सजा काट चुके कैदियों को छोड़ने पर चर्चा, जुर्म स्वीकार करने वालों का लोक अदालत में चलेगा मुकदमा
माननीय राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण नई दिल्ली व राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण लखनऊ के दिए गए दिशा-निर्देशों एवं दिनांक 25.07. 2022 को हुई बैठक में किए गए विचार विमर्श पर समीक्षा की गई।
 

 राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण की पहल

जनपद न्यायाधीश के विश्राम कक्ष में मीटिंग में चर्चा

राष्ट्रीय लोक अदालत में अधिक से अधिक वादों के निस्तारण की योजना

चंदौली जिले में आज माननीय राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण नई दिल्ली व राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण लखनऊ के आदेशानुसार प्रभारी जनपद न्यायाधीश व अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण जगदीश प्रसाद की अध्यक्षता में जनपद न्यायाधीश के विश्राम कक्ष में एक बैठक करके ऐसे बंदी जो अपनी सजा की अवधि में से आधी सजा काटकर के जेल में हैं, उनको छोड़े जाने पर विचार किया गया । साथ ही यह भी निर्देशित किया गया कि जो विचाराधीन अपना जुर्म स्वीकार करते हैं, उनको लोक अदालत में शामिल कर उनके वादों का निस्तारण करें । 

इस बैठक में जिला मजिस्ट्रेट/सदस्य की तरफ से उपजिलाधिकारी सदर अजय मिश्रा, अपर पुलिस अधीक्षक सुखराम भारती, प्रभारी सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण/सिविल जज सीनियर डिविजन दीपक कुमार मिश्रा व अधीक्षक जिला कारागार वाराणसी की तरफ से अपर जेल अधीक्षक जयशंकर सिंह उपस्थित रहे।

उक्त बैठक में माननीय राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण नई दिल्ली व राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण लखनऊ के दिए गए दिशा-निर्देशों एवं दिनांक 25.07. 2022 को हुई बैठक में किए गए विचार विमर्श पर समीक्षा की गई। बैठक में ऐसे बंदी जो अपनी सजा की अवधि में से आधी सजा काटकर के जेल में हैं उनको छोड़े जाने पर विचार किया गया । साथ ही यह भी निर्देशित किया गया कि जो विचाराधीन अपना जुर्म स्वीकार करते हैं उनको लोक अदालत में शामिल कर उनके वादों का निस्तारण करें । 

इसके साथ ही साथ बैठक में आगामी राष्ट्रीय लोक अदालत दिनांक 13.08. 2022 के बारे में भी चर्चा की गई। उपस्थित अधिकारीगण से प्रत्याशा की गई कि राष्ट्रीय लोक अदालत में अधिक से अधिक वादों का भी निस्तारण कराया जाए।

चंदौली जिले की खबरों को सबसे पहले पढ़ने और जानने के लिए चंदौली समाचार के टेलीग्राम से जुड़े।*