जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
बाढ़ से निपटने के लिए आपदा प्रबंधन की मीटिंग, सर्वे करके की जाएगी फोटोग्राफी
जनपद में बाढ़ नियंत्रण को लेकर चल रही परियोजनाओं की प्रगति एवं इस वर्ष बाढ़ नियंत्रण को लेकर बाढ़ से पूर्व की गई तैयारियों की जानकारी ली। जिलाधिकारी ने बताया कि चंद्रप्रभा, कर्मनाशा एवं गंगा नदी के कारण जो गांव प्रभावित होते है, उनकी तैयारी अभी से शुरू कर दिया जाय। ऐसे में समय रहते सारी तैयारियां पूरी कर ली जानी चाहिए। 
 
बाढ़ से  निपटने के लिए ऐसी है तैयारी, बीडीओ साहब करेंगे दौरा, इन अफसरों को कार्ययोजना का जिम्मा

जिलाधिकारी संजीव सिंह की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में जिला आपदा प्रबंध/बाढ़ से बचाव हेतु बैठक सम्पन्न हुई। इसमें जिलाधिकारी ने निर्देशित करते हुए कहा कि बाढ़ प्रभावित गांव एवं बाढ़ कटान वाले क्षेत्रों का मौका मुआयना कर फोटोग्राफी एवं वीडियोग्राफी कराएं। बाढ़ नियंत्रण के लिए इस बार तैयारी समय रहते पूरा कर लें, ताकि बाद में लोगों को समस्या से जूझना न पड़े।
 
        
बैठक के दौरान अधिशासी अभियंता सिंचाई से जनपद में बाढ़ नियंत्रण को लेकर चल रही परियोजनाओं की प्रगति एवं इस वर्ष बाढ़ नियंत्रण को लेकर बाढ़ से पूर्व की गई तैयारियों की जानकारी ली। जिलाधिकारी ने बताया कि चंद्रप्रभा, कर्मनाशा एवं गंगा नदी के कारण जो गांव प्रभावित होते है, उनकी तैयारी अभी से शुरू कर दिया जाय। ऐसे में समय रहते सारी तैयारियां पूरी कर ली जानी चाहिए।

Meeting DM Chandauli

 

उन्होंने अधिशासी अभियंता सिंचाई एवं सभी खण्ड विकास अधिकारी को निर्देश दिए कि संयुक्त टीम बनाकर ब्लाक क्षेत्रों में सर्वाधिक बाढ़ क्षेत्रों का परीक्षण कर एक सप्ताह के अंदर कार्य योजना तैयार करें। जिलाधिकारी ने सभी खण्ड विकास अधिकारी से उनके क्षेत्रों में बाढ़ चौकियों एवं बाढ़ शरणालय की स्थितियों की जानकारी ली। सभी अधिशासी अधिकारी को निर्देश दिया कि वह नगरीय क्षेत्रों में जलजमाव होने वाले जगहों की जल निकासी के लिए पहले से ही पूरी तैयारी रखें। जनपद, तहसील एवं ग्रामीण स्तरीय समितियों के गठन एवं उनके सक्रियता बढ़ाने को कहा। उन्होंने बाढ़ग्रस्त क्षेत्रों में गोताखोरों की सूची बनाने और स्वास्थ्य एवं पशुपालन विभाग को इंसानों एवं पशुओं में फैलने वाले संक्रामक रोगों से बचाव के लिए पर्याप्त मात्रा में दवाएं एवं टीकों का स्टॉक भी रखने के निर्देश दिए। 

        
इस दौरान मुख्य विकास अधिकारी अजितेंद्र नारायण, अपर जिलाधिकारी उमेश मिश्रा, परियोजना निदेशक, अधिशासी अभियंता सिंचाई, अधिशासी अभियंता जल निगम एवं समस्त बीडीओ समेत अन्य अधिकारीगण मौजूद रहे।