जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
इंडियन बैंक इंश्योरेंस पॉलिसी के पेपर देने में कर रहा आनाकानी, सोमवार को बैंक पर जुटेंगे पीड़ित लॉकरधारी
चंदौली जिले के इंडियन बैंक में 30-31 जनवरी 2022 की रात में 40 लॉकरों को काटकर हुई करोड़ों रुपए की डकैती के मामले में एक बार फिर से पीड़ित लॉकरधारी अपनी कानूनी लड़ाई के साथ साथ बैंक के द्वारा किए जा रहे असहयोग व लॉकर की पॉलिसी बदलने के लिए आंदोलन शुरू करेंगे
 

भी तक बैंक ने नहीं दिया इंश्योरेंस का पेपर

पुलिस नहीं दिखा रही गहने

चंदौली जिले के इंडियन बैंक में 30-31 जनवरी 2022 की रात में 40 लॉकरों को काटकर हुई करोड़ों रुपए की डकैती के मामले में एक बार फिर से पीड़ित लॉकरधारी अपनी कानूनी लड़ाई के साथ साथ बैंक के द्वारा किए जा रहे असहयोग व लॉकर की पॉलिसी बदलने के लिए आंदोलन शुरू करेंगे। इसके  पहले 25 अप्रैल दिन सोमवार को बैंक पर जुटेंगे और इंश्योरेंस की प्रमाणित कॉपी न दिए जाने के कारण फिर से धरना प्रदर्शन करने की योजना बनाएंगे।

अभी तक बैंक ने नहीं दिया इंश्योरेंस का पेपर 

आपको बता दें कि लुटे गए 22 लॉकरधारियों ने चंदौली जिले की स्थायी लोक अदालत में अपना मामला दाखिल करते हुए कानूनी लड़ाई शुरू की है। बैंक के आला अफसरों के साथ साथ इंश्योरेंस कंपनी के आला अफसरों को नोटिस जाने के बाद बैंक के अधिवक्ता की ओर से अपना जवाब दाखिल किया गया है, जबकि यूनाइटेड इंडिया इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड के अफसर व अधिवक्ता लॉकरधारियों से इंश्योरेंस की पॉलिसी मांग रहे हैं। जबकि इंडियन बैंक के अफसर बैंक की बीमा पॉलिसी की कापी देने में आनाकानी कर रहे हैं। पिछले शनिवार से लगातार इसकी मांग पीड़ित लॉकरधारियों ने की है, लेकिन बैंक की ओर से संतोषजनक जवाब नहीं मिला और न ही पॉलिसी की कॉपी लॉकरधारियों को मिल पायी है। इतना ही नहीं स्थाई लोक अदालत से बैंक के इंसुरेंस पेपर की कॉपी के लिए एक आदेश अभी बैंक के आला अफसरों के लिए जारी हुआ है इसके बावजूद अगर उनके कान पर जूं नहीं रहती है तो सोमवार को ही पीड़ित लाकरधारी अपना आंदोलन शुरू कर देंगे।

इस मामले में न्यायाधीश महोदय ने अगली तारीख 27 अप्रैल सुनिश्चित की है।  25 अप्रैल दिन सोमवार तक पीड़ित ग्राहक एक बार फिर एकजुट होकर इंश्योरेंस के पेपर की कॉपी लेने के लिए बैंक की शाखा पर जाएंगे और अगर बैंक प्रबंधक इंश्योरेंस की प्रमाणित प्रति उपलब्ध नहीं करवाता है तो सभी पीड़ित लॉकरधारी एकबार फिर से बैंक पर अपना आंदोलन शुरू कर देंगे। साथ ही साथ 26 अप्रैल से तालाबंदी करते हुए अपना विरोध प्रदर्शन करेंगे।

पुलिस नहीं दिखा रही गहने
 इसके साथ ही साथ पीड़ित लॉकरधारी अपने लुटे लाकर के मामले में पुलिस द्वारा की जा रही अब तक की कार्यवाही और पकड़े गए बैंक लुटेरे के द्वारा बरामद गहने कि अभी तक पीड़ितों के द्वारा शिनाख्त न कराए जाने को लेकर विरोध प्रदर्शन करेंगे, ताकि पुलिस भी मामले में ढिलाई न बरते। 

26 अप्रैल को बैंक के सामने धरना 

पीड़ितों का कहना है कि पुलिस और बैंक के द्वारा मामले में पीड़ितों की मदद करने की बात कहे जाने के बाद से ही धरना प्रदर्शन बंद करके कानूनी लड़ाई शुरू की थी। लेकिन अब बैंक व इंश्योरेंस कंपनी इसमें सहयोग करने के बजाय बहाने बना रही है। अब बार-बार आश्वासन दिए जाने से नाराज आंदोलनकारी एक बार फिर अपने हक की लड़ाई शुरू करने जा रहे हैं। वह बैंक के साथ-साथ पुलिस अधीक्षक कार्यालय पर भी प्रदर्शन कर सकते हैं।

 बताया जा रहा है कि आगामी 26 अप्रैल को एक बार फिर से आंदोलनकारी पहले बैंक के सामने धरना देंगे और उसके बाद पुलिस अधीक्षक कार्यालय पर भी प्रदर्शन करेंगे। साथ ही साथ मामले में हुई अब तक की कार्यवाही की अपडेट जानने की कोशिश करेंगे।

 आपको बता दें कि सभी पीड़ित लॉकरधारियों ने अपने कानूनी लड़ाई भी शुरू कर दी है और इसके लिए स्थायी लोक अदालत में मुकदमा दर्ज कराया है। इसकी कार्यवाही भी जारी है। मामले में 27 अप्रैल को अदालत में बैंक के अफसरों व इंश्योरेंस कंपनी से जवाब तलब किया है।