जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
पूछ रही है जनता, कहां हैं बड़े-बड़े वादे करने वाले नेताजी, जनता के हितैषी मनोज सिंह डब्लू
चंदौली जिले में सैयदराजा थाना क्षेत्र के मनराजपुर गांव में पुलिस के द्वारा की गई निशा की हत्या के बाद अब सैयदराजा की जनता भी पूछने लगी है कि कहां चले गए हैं मनोज सिंह डब्लू। इतनी बड़ी घटना के बाद आखिर अभी तक पीड़िता का हाल पूछने के लिए वह क्यों नहीं आ रहे हैं
 

सैयदराजा की जनता भी पूछने लगी है कि कहां चले गए हैं मनोज सिंह डब्लू

आखिर अभी तक पीड़िता का हाल पूछने के लिए वह क्यों नहीं आ रहे

चंदौली जिले में सैयदराजा थाना क्षेत्र के मनराजपुर गांव में पुलिस के द्वारा की गई निशा की हत्या के बाद अब सैयदराजा की जनता भी पूछने लगी है कि कहां चले गए हैं मनोज सिंह डब्लू। इतनी बड़ी घटना के बाद आखिर अभी तक पीड़िता का हाल पूछने के लिए वह क्यों नहीं आ रहे हैं। जबकि यहां सपा का हर छोटा बड़ा नेता चुका है और कल पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव भी आ रहे हैं। 

बताते चलें कि चंदौली जिले में कन्हैया यादव की बेटी को पुलिस के द्वारा मार दिया गया, जबकि उसके घर पर उस वक्त परिवार के कोई भी पुरुष सदस्य घर में मौजूद नहीं थे, उस समय भारी संख्या में पुलिस बल जाकर दोनों लड़कियों निशा और गुंजा के साथ मारपीट करने के बाद निशा को गला दबाकर मौत के घाट उतार दिया। ऐसा परिवार व मनराजपुर गांव के लोगों को कहना है।

तरह-तरह की चर्चाएं भी जारी हैं... कोई किसी बात को लेकर तो कोई किसी बात को लेकर इस समय क्षेत्र में निशा की हत्या के बारे में बहुत सारी चर्चाएं हो रही हैं और इस पर सियासत भी नेताओं के द्वारा शुरू हो गई है।

वहीं, पर जनता के दिलों में बसने वाले और जनता के हर सुख और दुख को अपना दुख मानने वाले सपा के पूर्व विधायक मनोज सिंह डब्लू का कहीं भी अता पता नहीं चल रहा है, जिससे उनके समर्थकों में काफी आक्रोश भी देखा जा रहा है। ग्रामीणों में इस बात को लेकर चर्चाएं चल रही है कि कहीं पुलिस के डर से तो मनोज सिंह डब्लू नहीं दिख रहे हैं। 

अब तो कुछ लोग यह भी कहने लगे हैं कि जब चुनाव आता है तो मनोज सिंह डब्लू जनता के हर सुख दुख में शामिल हो जाते हैं और चुनाव समाप्त होने के बाद उनका कहीं पता नहीं चलता है। कुछ ऐसा ही अबकी बार भी कर रहे हैं।

सैयदराजा क्षेत्र के ग्रामीण अंचलों में मनोज सिंह डब्लू के पीड़ित परिवार का हाल-चाल न लिए जाने पर ग्रामीणों में तरह-तरह की चर्चाएं हो रही है, अब देखना है कि 9 तारीख को वह पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के आगमन पर भी आते हैं या उनके दौरे से दूरी बनाए रखते हैं। क्या मनोज सिंह डब्लू का पुलिस के डर से विधानसभा से दूर रहेंगे या फिर अपने राष्ट्रीय नेता के साथ वह पीड़ित परिवार से मिलेंगे। 

यह बात इस समय ग्रामीण अंचलों में चर्चा का विषय बना हुआ है और इस संबंध में लोगों की आपस में अनेकों चर्चाएं इस हत्याकांड से लेकर चल रही है। ग्रामीणों का यह भी कहना है कि अब देखिए पीड़िता को न्याय मिलता है कि पुलिस के द्वारा इसमें लीपापोती कर मामला को शांत कर दिया जाता है।