जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
मिशन शक्ति 4.0 : जिले के सभी ब्लॉकों में आयोजित हुए प्रधान सम्मेलन
ब्लॉक सदर में आयोजित प्रधान सम्मेलन में ब्लॉक डेवलपमेंट अधिकारी (बीडीओ), एग्रीकल्चर डेवलपमेंट अधिकारी (एडीओ) एवं महिला कल्याण अधिकारी,प्रधान,सुपरवाइज़र,आंगनबाड़ी कार्यकर्ता उपस्थित रहे। 
 

विभागों ने दी हितकारी योजनाओं के बारे में  जानकारी, प्रधानों को शिक्षित व प्रशिक्षित करने की पहल

 

चंदौली जिले में मिशन शक्ति 4.0 के अंतर्गत जनपद के समस्त ब्लॉक में शुक्रवार को प्रधान सम्मेलन का आयोजन किया गया। इसमें शामिल सभी विभागों  ने ग्राम प्रधानों को हितकारी योजनाओं के बारे में विस्तार से जानकारी दी।
 
प्रभारी जिला प्रोबेशन अधिकारी इंद्रवती यादव ने बताया कि ब्लॉक सदर में आयोजित प्रधान सम्मेलन में ब्लॉक डेवलपमेंट अधिकारी (बीडीओ), एग्रीकल्चर डेवलपमेंट अधिकारी (एडीओ) एवं महिला कल्याण अधिकारी,प्रधान,सुपरवाइज़र,आंगनबाड़ी कार्यकर्ता उपस्थित रहे। 

आयोजन का मुख्य उद्देश उपस्थित ग्राम प्रधानों एवं आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को महिला कल्याण विभाग व अन्य विभाग द्वारा चलायी जा रही समस्त योजनाओं के विषय में विस्तार पूर्वक जानकारी देना था,  ताकि ग्राम प्रधान अपने-अपने ग्राम पंचायत में मिशन शक्ति 4.0 के तहत चलाए जा रहे कार्यक्रमों और योजनाओं  का अधिक से अधिक प्रचार–प्रसार कर जरूरतमंदों तक लाभ पहुँचा सकें।

जिला महिला कल्याण अधिकारी दीक्षा अग्रहरी ने बताया कि मिशन शक्ति 4.0 के तहत विधवा, किशोरियों एवं बच्चों से संबंधित समस्याओं  का निस्तारण करने के लिए ब्लॉक स्तरीय शिविर का आयोजन किया जा रहा है।  इसके माध्यम से लोगों को जागरूक करने का कार्य किया जा रहा है,  जिससे महिलाओं को सशक्त और स्वावलंबी बनाया जा सकें। इसके अंतर्गत समस्त विभागों का शिविर लगाकर योजनाओं का प्रचार-प्रसार के माध्यम से मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना, मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना, पति की मृत्यु के उपरांत (निराश्रित) महिला पेंशन योजना एवं 181,112, 102,108,1090,1098 सहित समस्त हेल्पलाइन नंबर, बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना, वन स्टॉप सेंटर, महिला शक्ति केंद्र, रेलवे चाइल्ड हेल्प डेस्क (सीएचडी) के बारे में विस्तार से जानकारी दी जा रही है।

  उन्होंने बताया कि  (निराश्रित) विधवा पेंशन योजना, पति मृत्यु उपरान्त निराश्रित महिला पेंशन योजना का लाभ पाने के लिए है। पति का मृत्यु प्रमाण पत्र व अन्य पहचान पत्र के साथ आयोजित कैम्प जाने व ऑनलाइन पंजीकरण होने के पश्चात पेंशन उसके बैंक खाते में आनलाइन भुगतान किया जाता है। योजना में प्रति लाभार्थी 1000 रू0 प्रतिमाह पेंशन दी जाती है। 

Mission Shakti

साथ ही सम्मेलन में वन स्टाप सेन्टर व मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के बारे में बताया गया। यह योजना निर्धन परिवार के बेटियों के लिए संचालित हैं, इसके अन्तर्गत अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अल्पसंख्यक, अन्य पिछड़ा वर्ग के साथ ही सामान्य वर्ग के निर्धन परिवार भी आवेदन कर सकते हैं। योजना का लाभ विधवा और तलाकशुदा भी उठा सकते हैं। इस योजनान्तर्गत विवाह पर कुल 51000 रू0 की धनराशि की व्यवस्था है। योजना का लाभ लेने के लिए फार्म को भरकर ग्राम पंचायत/नगर पंचायत/नगर पालिका अथवा जिला मुख्यालय पर जिला समाज कल्याण अधिकारी के कार्यालय पर जमा कर सकते हैं। इसी तरह कन्या सुमंगला योजना की भी जानकारी दी गई, मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना में जन्म से लेकर स्नातक की पढ़ाई तक 15000 रुपये की सहायता राशि 6 किस्तों में दी जाती है। इस योजना का लाभ पाने के लिए जिन अभिभावकों की वार्षिक आय तीन लाख से कम  हो वह आवेदन कर लाभ पा सकते है।

Jila 

मिशन शक्ति 4.0 : जिले  के सभी ब्लॉकों  में आयोजित हुए प्रधान सम्मेलन
Mission Shakti Gram Pardhan Sammelan  
विभागों ने दी हितकारी योजनाओं के बारे में  जानकारी, प्रधानों को शिक्षित व प्रशिक्षित करने की पहल

 
चंदौली जिले में मिशन शक्ति 4.0 के अंतर्गत जनपद के समस्त ब्लॉक में शुक्रवार को प्रधान सम्मेलन का आयोजन किया गया। इसमें शामिल सभी विभागों  ने ग्राम प्रधानों को हितकारी योजनाओं के बारे में विस्तार से जानकारी दी।
 
प्रभारी जिला प्रोबेशन अधिकारी इंद्रवती यादव ने बताया कि ब्लॉक सदर में आयोजित प्रधान सम्मेलन में ब्लॉक डेवलपमेंट अधिकारी (बीडीओ), एग्रीकल्चर डेवलपमेंट अधिकारी (एडीओ) एवं महिला कल्याण अधिकारी,प्रधान,सुपरवाइज़र,आंगनबाड़ी कार्यकर्ता उपस्थित रहे। 

आयोजन का मुख्य उद्देश उपस्थित ग्राम प्रधानों एवं आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को महिला कल्याण विभाग व अन्य विभाग द्वारा चलायी जा रही समस्त योजनाओं के विषय में विस्तार पूर्वक जानकारी देना था,  ताकि ग्राम प्रधान अपने-अपने ग्राम पंचायत में मिशन शक्ति 4.0 के तहत चलाए जा रहे कार्यक्रमों और योजनाओं  का अधिक से अधिक प्रचार–प्रसार कर जरूरतमंदों तक लाभ पहुँचा सकें।

जिला महिला कल्याण अधिकारी दीक्षा अग्रहरी ने बताया कि मिशन शक्ति 4.0 के तहत विधवा, किशोरियों एवं बच्चों से संबंधित समस्याओं  का निस्तारण करने के लिए ब्लॉक स्तरीय शिविर का आयोजन किया जा रहा है।  इसके माध्यम से लोगों को जागरूक करने का कार्य किया जा रहा है,  जिससे महिलाओं को सशक्त और स्वावलंबी बनाया जा सकें। इसके अंतर्गत समस्त विभागों का शिविर लगाकर योजनाओं का प्रचार-प्रसार के माध्यम से मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना, मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना, पति की मृत्यु के उपरांत (निराश्रित) महिला पेंशन योजना एवं 181,112, 102,108,1090,1098 सहित समस्त हेल्पलाइन नंबर, बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना, वन स्टॉप सेंटर, महिला शक्ति केंद्र, रेलवे चाइल्ड हेल्प डेस्क (सीएचडी) के बारे में विस्तार से जानकारी दी जा रही है।

  उन्होंने बताया कि  (निराश्रित) विधवा पेंशन योजना, पति मृत्यु उपरान्त निराश्रित महिला पेंशन योजना का लाभ पाने के लिए है। पति का मृत्यु प्रमाण पत्र व अन्य पहचान पत्र के साथ आयोजित कैम्प जाने व ऑनलाइन पंजीकरण होने के पश्चात पेंशन उसके बैंक खाते में आनलाइन भुगतान किया जाता है। योजना में प्रति लाभार्थी 1000 रू0 प्रतिमाह पेंशन दी जाती है। 

साथ ही सम्मेलन में वन स्टाप सेन्टर व मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के बारे में बताया गया। यह योजना निर्धन परिवार के बेटियों के लिए संचालित हैं, इसके अन्तर्गत अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अल्पसंख्यक, अन्य पिछड़ा वर्ग के साथ ही सामान्य वर्ग के निर्धन परिवार भी आवेदन कर सकते हैं। योजना का लाभ विधवा और तलाकशुदा भी उठा सकते हैं। इस योजनान्तर्गत विवाह पर कुल 51000 रू0 की धनराशि की व्यवस्था है। योजना का लाभ लेने के लिए फार्म को भरकर ग्राम पंचायत/नगर पंचायत/नगर पालिका अथवा जिला मुख्यालय पर जिला समाज कल्याण अधिकारी के कार्यालय पर जमा कर सकते हैं। इसी तरह कन्या सुमंगला योजना की भी जानकारी दी गई, मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना में जन्म से लेकर स्नातक की पढ़ाई तक 15000 रुपये की सहायता राशि 6 किस्तों में दी जाती है। इस योजना का लाभ पाने के लिए जिन अभिभावकों की वार्षिक आय तीन लाख से कम  हो वह आवेदन कर लाभ पा सकते है।