जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
चंदौली समाचार की खबर का असर, बबुरी पुलिस को दर्ज करना पड़ा मुकदमा
चंदौली जिला के चकिया कोतवाली अंतर्गत सैदूपुर की ग्राम प्रधान शीला गुप्ता को बीते 28 अप्रैल की सुबह 9 बजे अकोढवा गांव के पास उनकी स्कूटी को धक्का मार कर अगवा किए जाने के मामले में सबसे पहले चंदौली समाचार द्वारा छपी खबर को पुलिस अधीक्षक अंकुर अग्रवाल ने संज्ञान में लेते हुए संबंधित थाना को तत्काल प्राथमिकी दर्ज किए जाने का आदेश दिया है
 
बबुरी पुलिस ने रात में ही प्राथमिकी दर्ज कर अग्रिम कार्रवाई में जुट गई है

 चंदौली जिला के चकिया कोतवाली अंतर्गत सैदूपुर की ग्राम प्रधान शीला गुप्ता को बीते 28 अप्रैल की सुबह 9 बजे अकोढवा गांव के पास उनकी स्कूटी को धक्का मार कर अगवा किए जाने के मामले में सबसे पहले चंदौली समाचार द्वारा छपी खबर को पुलिस अधीक्षक अंकुर अग्रवाल ने संज्ञान में लेते हुए संबंधित थाना को तत्काल प्राथमिकी दर्ज किए जाने का आदेश दिया है। इस मामले में चकिया कोतवाली तथा बबुरी थाने में पड़ी तहरीर के आधार पर बबुरी पुलिस ने रात में ही प्राथमिकी दर्ज कर अग्रिम कार्रवाई में जुट गई है।

आपको बता दें कि ग्राम प्रधान शीला गुप्ता बीते 28 अप्रैल की सुबह 8 बजे अपने पुत्र कृष्ण मोहन के साथ स्कूटी द्वारा वाराणसी से सैदपुर स्थित अपने घर आ रही थी। इसी बीच जिवनाथपुर सिकंदरपुर मार्ग के बीच अकोढवा गांव के पास पीछे से कार सवार तीन लोगों ने पीछा कर स्कूटी का ओवरटेक कर कार से नीचे उतरकर ग्राम प्रधान का हाथ पकड़ने का कोशिश किए कि इसी बीच कार में टक्कर लगकर स्कूटी जमीन पर गिर गयी और ग्राम प्रधान शीला गुप्ता तथा उनके पुत्र कृष्ण मोहन स्कूटी से सड़क पर गिरकर घायल हो गए थे। 

उक्त मार्ग पर लोगों को आते हुए देखकर कार सवार भाग निकले। घटना के बाद आसपास के लोगों की मदद से घायल मां बेटे को चकिया स्थित एक निजी चिकित्सालय भेजा गया, जहां उनका इलाज कराया गया। 

ग्राम प्रधान शीला गुप्ता ने चकिया कोतवाली पहुंचकर पुलिस को घटना की आपबीती बताई तथा लिखित तहरीर दिया। मगर कोतवाली पुलिस मामला बबुरी थाना का कहकर पल्ला झाड़ लिया था। जिस पर ग्राम प्रधान ने बबुरी पुलिस को भी तहरीर देकर मुकदमा दर्ज किए जाने का मांग किया। मगर 36 घंटा बीत जाने के बाद भी पुलिस मुकदमा पंजीकृत नहीं कर पाई थी।

इसके बाद चंदौली समाचार में खबर प्रकाशित होते ही जिले की पुलिस हरकत में आई और पुलिस अधीक्षक अंकुर अग्रवाल ने मामले को गंभीरता से लेते हुए तत्काल संबंधित थाना को मुकदमा दर्ज करने का आदेश दिया। जिस पर रात में ही बबुरी थाना की पुलिस मुकदमा पंजीकृत कर पुलिस अग्रिम कार्रवाई में जुट गई है।