जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
सैयदराजा पुलिस की बड़ी लापरवाही, चंगुल से भाग निकला मासूम बच्चियों को उठाने वाला
बरंगा प्राथमिक विद्यालय में पढ़ने जा रही बच्चियों को इसी गांव के रहने वाले समसुद्दीन का 26 वर्षीय लड़का मोनू बहला-फुसलाकर उन्हें कहीं और ले जाने का काम करता है।
 

दबिश देने की कहानी समझा रही पुलिस

दो बच्चियों को उठाने की कर चुका है कोशिश
गांव वालों में दिख रहा है डर

चंदौली जिले के सैयदराजा थाना क्षेत्र के बरंगा गांव के प्राथमिक विद्यालय में पढ़ने वाली बच्चियों को गांव के ही युवक द्वारा बहला-फुसलाकर अपने साथ ले जाने के मामले को लेकर ग्रामीणों में आक्रोश व्याप्त हैं। गांव वालों ने उसे पकड़ कर पुलिस को सुपुर्द किया तो पुलिस की लापरवाही से युवक पुलिस को चकमा देकर हॉस्पिटल से फरार हो गया था। इसके बाद वह दूसरी बार बच्ची को उठाने का कर रहा था, तो ग्रामीणों के दौड़ाने जाने पर वह मौके से  फरार हो गया।  अब एकबार फिर से पुलिस उसकी तलाश में जुटी हुयी है। पुलिस की हीलाहवाली से गांव के लोगों में बच्चियों की सुरक्षा को लेकर डर बैठा हुआ है।

बता दें कि बरंगा प्राथमिक विद्यालय में पढ़ने जा रही बच्चियों को इसी गांव के रहने वाले समसुद्दीन का 26 वर्षीय लड़का मोनू बहला-फुसलाकर उन्हें कहीं और ले जाने का काम करता है। शनिवार को जब वह दोबारा ऐसा काम कर रहा था तभी बच्ची द्वारा चिल्लाए जाने पर वह मौके से फरार हो गया।

इस घटना की जानकारी होने के बाद ग्रामीणों में आक्रोश व्याप्त हैं। वहीं इसकी सूचना जब ग्रामीणों ने 112 पर दी तो मौके पर पहुंची पुलिस उस युवक की तलाश में जुट गई है। पुलिस द्वारा उसके खिलाफ कार्यवाही करने की बात कही जा रही है।

इस मामले में ग्रामीणों का कहना है कि 1 दिन पहले यही युवक आंगनबाड़ी में पढ़ने वाली 3 वर्ष की बच्ची को चॉकलेट दिलाने के बहाने उसे बसवार में ले जाकर छुपा दिया था। जिसको गांव के लोगों ने देखकर बाहर निकाला था और उस युवक को पकड़कर पुलिस के पास ले गए थे। तो वह शातिर युवक नकल करके लेट गया और सांस बंद कर लिया। पुलिस ने आनन-फानन में उसे अस्पताल ले गई, जहां से वह मौका देखकर फरार हो गया।

फिर दूसरे दिन उसके द्वारा एक बच्ची को पकड़े जाने का कार्य किया जा रहा था कि विद्यालय में तैनात अध्यापक और बच्चों ने जब दौड़ाया तो वह मौके से भाग गया। बताया जा रहा है कि विद्यालय के चारों तरफ बाउंड्री होने के बावजूद वह बाउंड्री डाककर किसी तरह विद्यालय में प्रवेश करता है। लोगों का कहना है कि वह नशे का आदी होने के कारण यह बच्चियों के बेचने की फिराक में इस तरह की हरकत करता रहता है, जिसमें फिलहाल असफल रहा है, लेकिन अगर उसके खिलाफ कार्रवाई नहीं हुयी तो वह किसी और बच्ची को अपना शिकार बना सकता है।

 इस संबंध में बच्ची की मां प्रभावती देवी ने बताया कि शुक्रवार को उनकी बच्ची पढ़ने आई थी तो मोनू नाम का युवक उठाकर बांस में ले गया था और उसे ग्रामीणों ने पकड़ लिया तो पुलिस के हवाले किया था लेकिन वहां से भी वह फरार हो गया तो शनिवार को दूसरे बच्चे को उठाने का काम करने लगा। यह पुलिस की बड़ी लापरवाही है।

इस संबंध में विद्यालय के इंचार्ज प्रधानाध्यापक संतोष कुमार का कहना है कि उनके विद्यालय में पढ़ने वाली कक्षा तीन की बच्ची टॉयलेट करने गई थी वहीं छुपा हुआ मोनू नाम का युवक बाउंड्री पर से उसका बाल पकड़ कर खींचने लगा। इस पर बच्ची की चिल्लाने लगी। वह हल्ला गुल्ला सुनकर मौके पर पहुंचे तो मोनू मौके से फरार हो गया। इस संबंध में पुलिस से भी शिकायत की गई है। लेकिन पुलिस ने कुछ नहीं किया है।

ग्राम प्रधान कन्हैया राम इस संबंध में बताया कि यह युवक दूसरी बार ऐसी घटना को अंजाम दिया है जिसके खिलाफ पुलिस द्वारा शिकायत की गई है और कार्यवाही की मांग की जा रही है। जबकि सैयदराजा थाना प्रभारी ने बताया कि लगातार उसको पकड़ने के लिए दबिश दी जा रही है और उसके ससुराल में भी दबिश दी गई है। जल्द ही इस युवक को गिरफ्तार कर  जेल भेजा जाएगा।

चंदौली जिले की खबरों को सबसे पहले पढ़ने और जानने के लिए चंदौली समाचार के टेलीग्राम से जुड़े।*