जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
सावी स्वरोजगार मेला का आयोजन, अभ्यर्थियों का हुआ चयन
पूर्व विधायक मनोज सिंह डब्लू की बहन व बरहनी ब्लॉक की पूर्व जिला पंचायत सदस्य मीना सिंह द्वारा एक स्वरोजगार मेले का आयोजन किया गया था। इस दौरान पात्र उम्मीदवारों का चयन किया गया।  स्वरोजगार मेले का उद्देश्य महिलाओं एवं बालिकाओं को आत्मनिर्भर बनाने के साथ-साथ जनपद के बेरोजगार पढ़े-लिखे नौजवानों को स्वरोजगार करने के प्रशिक्षण देना था। 
 

11 जून को जिला मुख्यालय पर पुनः होगा रोजगार मेले का आयोजन

चंदौली जिले के जिला मुख्यालय स्थित नए सरकार की कुटिया पर आज सावी स्वरोजगार प्रशिक्षण केंद्र पर रोजगार मेला का आयोजन किया गया, जिसमें जनपद के नौजवान व जनपद के बाहर के लोगों ने प्रतिभाग कर स्वरोजगार के तौर तरीकों की जानकारी ली। 

 बताते चलें कि चंदौली जिला मुख्यालय स्थित नए सरकार की कुटिया पर पूर्व विधायक मनोज सिंह डब्लू की बहन व बरहनी ब्लॉक की पूर्व जिला पंचायत सदस्य मीना सिंह द्वारा एक स्वरोजगार मेले का आयोजन किया गया था। इस दौरान पात्र उम्मीदवारों का चयन किया गया।  स्वरोजगार मेले का उद्देश्य महिलाओं एवं बालिकाओं को आत्मनिर्भर बनाने के साथ-साथ जनपद के बेरोजगार पढ़े-लिखे नौजवानों को स्वरोजगार करने के प्रशिक्षण देना था। 

पूर्व जिला पंचायत सदस्य  मीना सिंह द्वारा क्षेत्र के लोगों को रोजगार देने एवं स्वावलंबी बनाने के लिए यह एक अनोखी पहल है, इसमें कुटीर उद्योग से संबंधित लोगों को प्रशिक्षण देने तथा उन्हें प्रशिक्षित होने पर रोजगार देने आदि के कार्य निर्धारित किए गए हैं। जिसमें नि:शुल्क प्रशिक्षण दिया जाएगा । जैसे- कढ़ाई बुनाई, सिलाई ,ब्यूटी पार्लर कोर्स ,जैविक खेती एवं पंचगव्य की भी शिक्षा व ट्रेनिंग नि:शुल्क इस संस्थान के माध्यम से दी जाएगी ।

इसके लिए 11 जून को रोजगार मेले का आयोजन किया जाएगा, जिसमें कई पदों पर  चयन किया जाएगा, जिसके लिए वेतनमान भी निर्धारित किया गया है ।

वही इस संबंध में संस्था की संस्थापक मीना सिंह ने बताया कि यह सावी स्वरोजगार प्रशिक्षण केंद्र का आयोजन गरीब भारत की मानसिकता को खत्म करने के लिए शुरू की गयी पहल है।जिसमें सभी को स्वावलंबी बनाने के लिए प्रशिक्षण शिविर प्रारंभ किया गया है। इस प्रशिक्षण केंद्रों पर सभी उपस्थित लोगों को निशुल्क प्रशिक्षण दिया जाएगा और उनके हुनर के अनुरूप उन्हें विभिन्न पदों पर नियुक्त कर उनकी बेरोजगारी की समस्या को भी दूर कर दिया जाएगा।

 वहीं उन्होंने यह भी बताया कि जैविक खेती से उत्पन्न होने वाले प्रोडक्टों को अब ट्रेड के माध्यम से सेल करने की प्रक्रिया के लिए भारत सरकार से परमिशन लेकर उसे भी सुनिश्चित किया जाएगा। ताकि उत्पादन के बाद इन वस्तुओं का सेलिंग भी अंतरराष्ट्रीय मार्केट में की जा सके। इस दौरान  अपनी प्रतिभा के अनुसार चयनित हुए लोगों ने कार्य करने की इच्छा जाहिर की।