जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
सीमा कुशवाहा लड़ेंगी गुड़िया को न्याय दिलाने की कानूनी लड़ाई, फोन पर की बात
बहुजन समाज पार्टी के पूर्व जिलाध्यक्ष घनश्याम प्रधान ने बताया कि पार्टी की राष्ट्रीय प्रवक्ता सीमा समृद्धि कुशवाहा ने फोन पर मृतका के पिता कन्हैया यादव से बात की है और मामले में जरूरी जानकारी लेने के बाद परिवार के न्याय की लड़ाई में साथ देने का भरोसा दिलाया है। 
 
बसपा नेताओं ने किया गांव का दौरा, पीड़ित परिवार को दिया मदद का भरोसा, फोन पर हुयी लड़ाई में साथ देने की बात  

चंदौली जिले के सैयदराजा थाना इलाके के मनराजपुर गांव की घटना को लेकर सियासी पारा अब धीरे-धीरे चढ़ता जा रहा है। समाजवादी पार्टी के बाद अब गुरुवार को बहुजन समाज पार्टी के प्रतिनिधिमंडल में शामिल नेताओं ने मनराजपुर गांव में पहुंचकर पीड़ित परिवार के लोगों से मुलाकात की और मामले में सारी जानकारियों को एकत्रित करने का काम किया। साथ ही मृतका के परिवार को न्याय दिलाने के लिए मामले की कोर्ट में अपनी ओर से पैरवी करने की भी बात कही।

गांव में पहुंचे बहुजन समाज पार्टी के पूर्व जिलाध्यक्ष घनश्याम प्रधान ने बताया कि पार्टी की राष्ट्रीय प्रवक्ता सीमा समृद्धि कुशवाहा ने फोन पर मृतका के पिता कन्हैया यादव से बात की है और मामले में जरूरी जानकारी लेने के बाद परिवार के न्याय की लड़ाई में साथ देने का भरोसा दिलाया है। 

आपको बता दें कि सीमा समृद्धि कुशवाहा ने दिल्ली के निर्भया कांड और हाथरस की घटना में पीड़ितों की ओर से कोर्ट में पैरवी करने तथा निर्भया कांड में दोषियों को सजा दिलाने में अहम भूमिका निभाई थी। ऐसे में उनके द्वारा पीड़ित परिवार की पैरवी की बात सामने आने के बाद कहीं न कहीं परिवार के लोगों को न्याय की उम्मीद जगने लगी है। 

इस मौके पर सैयदराजा विधानसभा से बसपा के प्रत्याशी रहे अमित यादव लाला ने मांग करते हुए कहा कि प्रदेश सरकार पीड़ित परिवार को एक करोड़ का मुआवजा देने के साथ साथ तथा एक व्यक्ति को सरकारी नौकरी देने का कार्य करें, ताकि परिवार के साथ न्याय हो सके। 

seema kushwaha

आपको बता दें कि बीते रविवार को मनराजपुर गांव में बालू कारोबारी और जिला बदर कन्हैया यादव के घर पुलिस दबिश देने गई थी। घर में उस समय केवल दो लड़कियां थीं। परिवार के लोगों का आरोप है कि पुलिस ने उनकी बेटी निशा उर्फ गुड़िया को इतना पीटा कि उसकी मौत हो गई है। इसके बाद थानाध्यक्ष को हटाते हुए उनके खिलाफ कार्रवाई शुरू की गयी है। इस मामले में अब विभिन्न राजनीतिक दलों के नेता सक्रिय हो गए हैं और अपनी ओर से पहल कर रहे हैं।