जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
मनरेगा के काम का किसी के पास कोई जवाब नहीं, चुप्पी देख CDO साहब हो गए परेशान
चंदौली जिले में मनरेगा के काम में सहयोग करने वाले और काम की मॉनिटरिंग करने वाले अधिकारियों और कर्मचारियों की हालत देखकर आप दांतों तले उंगली दबा लेंगे।
 

CDO साहब हो गए परेशान

मनरेगा के काम का किसी के पास कोई जवाब नहीं

चंदौली जिले में मनरेगा के काम में सहयोग करने वाले और काम की मॉनिटरिंग करने वाले अधिकारियों और कर्मचारियों की हालत देखकर आप दांतों तले उंगली दबा लेंगे। वह लंबी चौड़ी कार योजना बनाते हैं, कार्य के दौरान कई बार जांच पड़ताल और कार्य के पश्चात् भी कार्य के मूल्यांकन का दावा करते हैं, लेकिन जब समीक्षा बैठक में उनसे जानकारी मांगी जाती है तो वह इधर-उधर देखने लगते हैं। इससे साफ तौर पर लगता है कि मनरेगा के काम में किसी की कोई दिलचस्पी नहीं होती, बल्कि हर कोई अपना हिस्सा लेकर आंख बंद कर लेता है। अगर इस बात पर भरोसा न हो तो मुख्य विकास अधिकारी की इस बैठक का हाल आप खुद ही जान लीजिए।

चंदौली जनपद के सकलडीहा ब्लॉक सभागार में मुख्य विकास अधिकारी की अध्यक्षता में विकास खण्ड के 104 ग्राम सभाओं में मनरेगा, शौचालय, आवास के हो रहे विकास संबंधित कार्यों की समीक्षा बैठक आयोजित की गयी। बैठक में शामिल होने आए जिले के मुख्य विकास अधिकारी ने रोजगार सेवक, ग्राम पंचायत अधिकारी और जेई को सही-सही जानकारी नहीं देने एवं कार्यों के प्रति उदासीनता बरतने पर जमकर फटकार लगाई गयी। 


इस बैठक के दौरान मुख्य विकास अधिकारी ने मनरेगा के तहत ग्राम सभा पिपरी में हो रहे कार्यों के बाबत रोजगार सेवक से जानकारी मांगी। इस पर रोजगार सेवक को लेबर संख्या, लेबर बजट, संबंधित कोई भी सही जानकारी नहीं थी और वह साफ साफ कोई जानकारी नहीं दे पाया, जिस पर रोजगार सेवक को कड़ी फटकार लगाते हुए अपने कार्यशैली में सुधार लाने की सीडीओ ने हिदायत दी। वहीं संबंधित सेक्रेटरी एवं जेई से भी जानकारी लेनी चाही तो वे साहबान भी मूक दर्शक स्थिति में नजर आए। 

इस तरह के आंख मूंद कर काम कराने की कार्यशैली पर जिले के मुख्य विकास अधिकारी ने सभी को फटकार लगाते हुए काम में मन लगाने की बात कही गयी।