जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
अस्पताल में कमिश्नर साहब को मिली कई कमियां, कोविड को लेकर तैयारियों पर दिखी नाराजगी
 मंडलायुक्त द्वारा जिला अस्पताल के निरीक्षण में प्रवेश करते ही परिसर में अस्पताल के सामने व्याप्त गंदगी को देखकर बेहद खफा हुए और उसके समुचित निस्तारण का कड़े निर्देश मुख्य चिकित्साधिकारी एवं मुख्य चिकित्सा अधीक्षक को दिए। 
 

कोरोना की तीसरी लहर की तैयारी देखने आए कमिश्नर साहब

इस बात पर हुए नाराज

देखी अस्पताल की हालत व दिए निर्देश
 


चंदौली जिले के मंडलायुक्त व जनपद के नोडल अफसर दीपक अग्रवाल जनपद भ्रमण के दूसरे दिन जिलाधिकारी संजीव सिंह एवं आला अफसरों के साथ जिला अस्पताल में कोरोना महामारी के तृतीय चरण के दृष्टिगत तैयारियों के संबंध में आइसोलेशन वार्ड, आक्सीजन प्लान, जनरल वार्ड, पी-2 वार्ड का निरीक्षण कर तैयारियों को परखा व आवश्यक दिशा निर्देश दिए।  मंडलायुक्त द्वारा जिला अस्पताल के निरीक्षण में प्रवेश करते ही परिसर में अस्पताल के सामने व्याप्त गंदगी को देखकर बेहद खफा हुए और उसके समुचित निस्तारण का कड़े निर्देश मुख्य चिकित्साधिकारी एवं मुख्य चिकित्सा अधीक्षक को दिए। 

Commissioner varanasi Inspection.

आयुक्त द्वारा अस्पताल परिसर में लगें 500 व 1000 LPM क्षमता के आक्सीजन प्लांट का निरीक्षण कर जानकारी प्राप्त की। उन्होंने निर्देश देते हुए कहा कि ऑक्सीजन प्लांट को पूरी तरह से कार्यकारी रखा जाए। मातृ शिशु विंग अस्पताल के निरीक्षण के दौरान वहां बे तरकीब ढंग से रखें बेड़ो, स्टेचरों को देखकर गहरी नाराजगी जताई और व्यवस्थित ढंग से रखें जाने के निर्देश दिए। यहां उन्होंने बच्चों के आईसीयू/ पीडियाट्रिक कक्ष का निरीक्षण के दौरान बेड, वेंटिलेटर, आक्सीजन कंसंट्रेटर आदि व्यवस्थाओं को देखा। उन्होंने समस्त व्यवस्थाओं को पूरी तरह दुरुस्त रखने का निर्देश दिया। 

Commissioner varanasi Inspection.

निरीक्षण के दौरान मंडलायुक्त द्वारा अपने समक्ष वेंटिलेटर का डेमो भी देखा। उन्होंने पीकू वार्ड में साफ- सफाई की खराब स्थिति पर नाराजगी जाहिर करते हुए पूरी तरह से साफ सफाई के साथ वार्ड को सेनेटाइज करने के कड़े निर्देश दिए। निरीक्षण के दौरान मंडलयुक्त महोदय द्वारा जरूरी दवाओं की उपलब्धता के बारे में जानकारी ली गई तथा दवाओं की पर्याप्त उपलब्धता के लिए निर्देशित किया गया।

Commissioner varanasi Inspection.

अपने निरीक्षण के दौरान मंडलायुक्त द्वारा बच्चों के लिए कोविड-19 वार्ड, प्रसवोत्तर वार्ड, रसोई घर, ब्लड बैंक, आईसीयू, आइसोलेशन वार्ड का निरीक्षण किया गया एवं वहां भर्ती मरीजों से पूछताछ कर स्वास्थ्य संबंधित जानकारी ली गई। निरीक्षण के दौरान मंडलायुक्त द्वारा अस्पताल में रखें गये मेडिकल उपकरणों को तत्काल इंस्टॉल कर लिये जाने के निर्देश दिए गए। ब्लड बैंक के निरीक्षण के दौरान ब्लड की उपलब्धता की जानकारी ली गई और पर्याप्त मात्रा में ब्लड की उपलब्धता सुनिश्चित किए जाने के निर्देश दिए। मंडल आयुक्त द्वारा जिला अस्पताल के आकस्मिक एवं जनरल वार्ड का निरीक्षण किया गया। 
 

निरीक्षण के दौरान कुछ मरीजों द्वारा बाहर से दवा लिखें जाने की पर्ची दिखाई गई। जिसे चिकित्सक को बाहर की दवा लिखने पर कड़ी फटकार लगाई उन्होंने कहा कि आगे से किसी डॉक्टर द्वारा बाहर की दवाओं की पर्ची लिखी गई तो संज्ञान में आने पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इस दौरान मीडिया से मुखातिब होते हुए मंडलयुक्त द्वारा बताया गया कि 15 से 18 वर्ष के बच्चों के व्यापक रूप से कोविड-19 टीकाकरण के लिए जनपद में 15 व 16 जनवरी को विशेष अभियान चलाया जाएगा।

Commissioner varanasi Inspection.

अपील करते हुए कहा कि अधिक से अधिक संख्या में इस अभियान के दौरान 15 से 18 वर्ष के सभी लोग वैक्सीनेशन जरूर करा ले। इसके अलावा जनपद में अभी तक कोविड-19 टीकाकरण से अभी भी वंचित रह गए आम नागरिक अपने नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पर जाकर टीकाकरण अवश्य करा लें। कोविड के बढ़ते मरीजों के संख्या को देखते हुए वैक्सीन लगवाना अत्यंत जरूरी है। 


            
निरीक्षण के दौरान मुख्य विकास अधिकारी अजितेंद्र नारायण, मुख्य चिकित्साधिकारी, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी सहित अन्य चिकित्सक गण मौजूद रहे।