जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
चंदौली में ऐसे मनायी गयी गांधीजी व शास्त्रीजी की जयंती, कई कार्यक्रम भी आयोजित
 

चंदौली जिले में जिलाधिकारी ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी व पूर्व प्रधानमंत्री स्व. लाल बहादुर शास्त्री जी की जयंती पर जनपदवासियों को दी बधाई और 

कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित कार्यक्रम में महात्मा गांधी व लाल बहादुर शास्त्री जी के चित्र पर माल्यार्पण व श्रद्धा सुमन अर्पित किए।

इस मौके पर जिलाधिकारी संजीव सिंह ने गांधी जयंती के अवसर पर प्रातः 09 बजे कलेक्ट्रेट में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी और लाल बहादुर शास्त्री जी के चित्र पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि अर्पित की तथा जनपदवासियों को दोनों महान विभूतियों के जयंती की शुभकामनायें व बधाई दी। 

कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित कार्यक्रम में महात्मा गांधी के संघर्षों एवं उनके योगदान पर प्रकाश डालते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि 2 अक्टूबर अंतरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस के रूप में घोषित किया गया है। महात्मा गांधी और लाल बहादुर शास्त्री जी दोनों महान विभूतियों का देश के निर्माण में अप्रतिम योगदान रहा है। देश के स्वतंत्रता आंदोलन में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की अत्यंत महत्वपूर्ण भूमिका रही। राष्ट्रीय स्वतंत्रता आंदोलन में उनके संघर्षों तथा योगदान को देखते हुए स्वतंत्रता आंदोलन के एक कालखंड को गांधी युग भी कहा जाता है ।उन्होंने राष्ट्रीय आंदोलन का नेतृत्व किया ।उन्होंने विदेशी शासन से मुक्ति के लिए सत्य और अहिंसा का मार्ग चुना और कठिन संघर्ष से देश को आजादी दिलवाई।

 जिलाधिकारी ने कहा कि महात्मा गांधी ने हमेशा गरीबों और वंचितों के उत्थान की बात कही और इसके लिए और जीवन पर्यंत कार्य किया । वे भारतीय संस्कृति के पोषक तथा भेदभाव की परंपरा के विरोधी थे । उन्होंने विश्व को शांति का संदेश दिया। वर्तमान वैश्विक परिस्थितियों को देखते हुए महात्मा गांधी के विचार आज और भी प्रासंगिक है। 

जिलाधिकारी ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री जी साहस और सादगी की प्रतिमूर्ति थे। गांधीवादी विचारधारा का अनुसरण करते हुए उन्होंने देश की सेवा की और अपनी निष्ठा एवं सच्चाई में कभी कमी नहीं आने दी। पाकिस्तान युद्ध के समय उन्होंने अत्यंत साहस का परिचय दिया ।उन्होंने देश के किसान किसान और सेना के जवान दोनों को महत्व देते हुए 'जय जवान जय किसान' का नारा दिया तथा तत्कालीन खाद्यान्न संकट से देश को निकालने में अहम भूमिका निभाई।


जिलाधिकारी ने कहा कि केंद्र और प्रदेश सरकार गरीबों के उत्थान के लिए अनेक कल्याणकारी योजनाएं चला रही है। हम जिस भी पद पर है पूरी निष्ठा व ईमानदारी से कार्य करें और समाज के अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्ति को लाभ पहुंचाने में अपनी भूमिका निभाएं। हम सभी इनके पद चिन्हों का अनुसरण करें यही दोनों महान विभूतियों के प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी । 


इस अवसर पर उप जिलाधिकारी सहित कलेक्ट्रेट के अन्य अधिकारी व कर्मचारीगण उपस्थित रहे।