जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
रंग लाया अंतर्राष्ट्रीय क्षत्रिय राजपूत संघ का दबाव, दर्ज हुआ 5 लोगों के खिलाफ नामजद मुकदमा
नवहीं पुल के पास 14 जुलाई को हुई गोलीबारी में प्रतिक्रिया स्वरूप नवहीं गांव के रहने वाले सुरेश सिंह के बेटे अजय सिंह उर्फ गोलू को मारपीट कर घायल कर दिया था।
 

5 लोगों के खिलाफ नामजद  मुकदमा दर्ज

गोली मारने की घटना के बाद मारपीट

घायल हो गया था अजय सिंह उर्फ गोलू

चंदौली जिले में नवहीं पुल के पास 14 जुलाई को हुई गोलीबारी में प्रतिक्रिया स्वरूप नवहीं गांव के रहने वाले सुरेश सिंह के बेटे अजय सिंह उर्फ गोलू को मारपीट कर घायल कर दिया था। इस मामले में चंदौली कोतवाली पुलिस ने 5 लोगों के खिलाफ नामजद तथा अन्य अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। 

बताया जा रहा है कि अंतर्राष्ट्रीय क्षत्रिय राजपूत संघ के द्वारा दी गई चेतावनी के मद्देनजर चंदौली कोतवाली पुलिस ने सुरेश सिंह की तहरीर पर सितू राम, भैया लाल, अंशु, उमापति, राजू गौतम के अलावा कुछ अन्य अज्ञात लोगों के खिलाफ लगभग आधे दर्जन से अधिक धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है। इस मामले में चंदौली कोतवाली पुलिस में मामला दर्ज कर लिया है।

FIR Against Five People

 तहरीर में अजय सिंह उर्फ गोलू के पिता ने बताया है कि फल विक्रेता पर फायरिंग के दौरान जब उनका अजय बेटा गांव से गुजर रहा था। तभी नवहीं गांव के कुछ लोगों ने उसे घेर लिया और डंडे तथा अन्य हथियार से उसकी पिटाई की, जिससे उसके गले की सोने की चेन भी खो गई। इस दौरान लोगों ने पुलिस की गाड़ी पर भी हमला किया। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर गोलू की जान बचाने की कोशिश की तथा उसको इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया।

फिलहाल हालत गंभीर होने पर दूसरे दिन से शिव प्रसाद गुप्त अस्पताल में रेफर कर दिया गया है, जहां उसका गंभीर हालत में इलाज चल रहा है। गोलू की स्थिति अभी भी गंभीर बनी हुई है। पुलिस ने मामला दर्ज करते हुए इस मामले में कार्रवाई का भरोसा दिलाया है।

रविवार को इस मामले में अंतर्राष्ट्रीय क्षत्रिय राजपूत संघ के पदाधिकारियों ने चंदौली कोतवाली पुलिस को 48 घंटे की मोहलत देते हुए कहा है कि अगर 48 घंटे में मुकदमा दर्ज नहीं हुआ था तो क्षत्रिय समुदाय के लोग सड़क पर उतरने के लिए बाध्य होंगा। इसकी सारी जिम्मेदारी पुलिस प्रशासन की होगी। हालांकि मामले में जांच कराकर कार्यवाही करने का चंदौली कोतवाल ने भरोसा दिलाया था।

चंदौली जिले की खबरों को सबसे पहले पढ़ने और जानने के लिए चंदौली समाचार के टेलीग्राम से जुड़े।*