जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
चंदौली पुलिस ने फेक करेंसी गिरोह को दबोचा, 11 लाख से अधिक की जाली नोट बरामद
चंदौली जिले की SOG और सर्विलांस टीम के साथ मिलकर बलुआ थाने की पुलिस ने दो भाइयों समेत तीन अंतर्प्रांतीय जाली नोट छापने वाले गिरोह के सदस्यों का को गिरफ्तार करते हुए उनके पास से भारी मात्रा में फेक करेंसी बरामद की है
 
जाली नोट छापने वाले गिरोह के सदस्यों का को गिरफ्तार करते हुए

चंदौली जिले की SOG और सर्विलांस टीम के साथ मिलकर बलुआ थाने की पुलिस ने दो भाइयों समेत तीन अंतर्प्रांतीय जाली नोट छापने वाले गिरोह के सदस्यों का को गिरफ्तार करते हुए उनके पास से भारी मात्रा में फेक करेंसी बरामद की है। इसके साथ ही साथ फेक करेंसी बनाने के उपकरण, प्रिंटर और दो मोटरसाइकिलें भी बरामद की हैं।

jali note

इनकी गिरफ्तारी की जानकारी प्रेस कांफ्रेंस करके चंदौली जिले के अपर पुलिस अधीक्षक चिरंजीवी मुखर्जी ने दी है। मीडिया को बताते हुए कहा कि पुलिस अधीक्षक के द्वारा अपराधियों के विरुद्ध चलाए जा रहे अभियान के दौरान मुखबिर की सूचना पर बलुआ थाने की पुलिस और SOG और सर्विलांस टीम ने  दो मोटरसाइकिल पर जा रहे तीन अपराधियों को घेर कर गिरफ्तार किया है और उनके पास से ₹11,82,630 की एक करेंसी बरामद की है। साथ ही साथ उनके पास से फेक करेंसी बनाने वाले उपकरण, प्रिंटर, सांचा, कटर, स्केल, पैसा, नोट छपाई करने वाले कागज , टेप, कैंची, तार के साथ-साथ दो मोटरसाइकिलें व 3 मोबाइल फोन भी बरामद हुए हैं।

 अपर पुलिस अधीक्षक चिरंजीवी मुखर्जी ने कहा कि ये जालसाज चहनियां के रास्ते माधोपुर होते हुए धीना जाते समय शुक्रवार को पुलिस की सक्रियता से गिरफ्तार किए गए हैं। पकड़े गए अभियुक्तों के नाम गोपाल कुमार पांडे पुत्र अवधेश पांडे व  गोकुल कुमार पांडे पुत्र अवधेश पांडे निवासी भलुवाही, थाना  बघौला, जिला रोहतास बिहार के रहने वाले हैं। यो दोनों सगे भाई हैं। वहीं तीसरा अपराधी भी सोनू यादव पुत्र राज नारायण यादव गांव मसौढा थाना दुर्गावती कैमूर बिहार का निवासी बताया जाता है।

बताया जा रहा है कि इनके पास से नोट छापने वाली सामग्री के साथ-साथ दो मोटरसाइकिले और 3 मोबाइल फोन और विभिन्न बैंकों के एटीएम कार्ड, पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, आधार कार्ड भी बरामद किए गए हैं।

 इन को गिरफ्तार करने वाली टीम में स्वाट और सर्विलांस टीम के प्रभारी शैलेंद्र प्रताप सिंह, उप निरीक्षक दीपक कुमार, बलुआ थाना के प्रभारी राजीव कुमार सिंह, उप निरीक्षक अभिनव कुमार गुप्ता समेत  लगभग डेढ़ दर्जन पुलिसकर्मी शामिल थे।