जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
टाटा, डाबर व हार्पिक जैसी नामी कंपनियों के नाम पर खेल, रैपर लगाकर नकली को असली बनाने का कारखाना, पुलिस ने बरामद किए सामान
सकलडीहा में बिकता था नकली सामान, ब्रांडेड कंपनियों के नाम पर तल रहा खेल, सकलडीहा पुलिस ने ऐसे किया भंडाफोड़
 

चंदौली जिले की सकलडीहा कोतवाली पुलिस को उस समय एक बड़ी सफलता मिली, जब पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर टिमिलपुर गांव में स्थित विजय अमृत लाल वर्मा के घर पर छापा मारा। पुलिस का कहना है कि उस मकान के अंदर किसी व्यक्ति के द्वारा नामी-गिरामी कंपनियों के नाम पर अवैध तरीके से नकली माल को ब्रांडेड बनाने का खेल किया जा रहा था। बनाए गए इन नकली सामानों पर कंपनियों के रैपर लगाकर आसपास के बाजार में बेचने का काम किया जाता था।

नकली को असली करने के खेल की सूचना पर जैसे ही प्रभारी निरीक्षक विनोद कुमार मिश्रा ने टीम के साथ विजय अमृत लाल वर्मा के मकान पर छापेमारी कर तलाशी ली तो मकान एक व्यक्ति मकान की चारदीवारी कूदकर मौके से भाग गया। फिलहाल पुलिस को कमरे की तलाशी के दौरान बाथरूम टॉयलेट क्लीनर, चाय की पत्ती के पैकेट, पैराशूट नारियल तेल के प्लास्टिक के डिब्बे, डाबर आंवला तेल के पैकेट सहित तमाम सामान बरामद हुए हैं।

ऐसा माना जा रहा है कि इस मकान में नकली हार्पिक टायलेट क्लीनर, टाटा प्रीमियम व टाटा गोल्ड चाय, पैराशूट जैसमिन तेल,  डाबर आंवला तेल सहित तमाम तरह के सामान नकली तौर पर बनाए जाते थे और उस पर रेफर लगाकर सील बंद कर बाजार में बेचने का काम किया जाता था।

 पुलिस ने बरामद सामान और रैपर के साथ साथ एक पैकिंग मशीन को सील करते हुए सकलडीहा कोतवाली में मुकदमा अपराध संख्या 96/2002 दर्ज कर लिया है तथा आरोपियों के खिलाफ 417, 419, 420 आईपीसी कथा 63/65 कॉपीराइट एक्ट का मुकदमा दर्ज कर आवश्यक कार्यवाही की जा रही है। पुलिस ने इस पूरे मामले में मकान मालिक विजय अमृत लाल वर्मा और एक अज्ञात व्यक्ति को मुलजिम भी बनाया है। 

इस सामान को बरामद करने वाली टीम में थाना प्रभारी विनोद कुमार मिश्रा, उपनिरीक्षक भैरव नाथ यादव, कांस्टेबल विकास जायसवाल, राहुल तिवारी और महिला कांस्टेबल अंकिता शामिल थीं।

चंदौली जिले की खबरों को सबसे पहले पढ़ने और जानने के लिए चंदौली समाचार के टेलीग्राम से जुड़े।*