जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
दवा के बहाने शराब की बिहार में करते थे तस्करी, चंदौली पुलिस ने बरामद की 65 लाख की शराब
यह तस्कर हरियाणा से शराब ले जाकर बिहार में बेचने का काम करता है। हर महीने यह दो चक्कर लगाकर बिहार में दोगुने दाम पर बेचने का काम करता है।
 

65 लाख की शराब पकड़ 25 हजार का इनाम पाए चंदौली कोतवाल

जानिए कैसे पकड़ी गयी बिहार जा रही शराब

चंदौली जिले की सदर कोतवाली पुलिस और स्वाट टीम ने मिलकर एक डीसीएम कंटेनर में भारी मात्रा में अवैध शराब का भंडाफोड़ किया है, जिसकी कीमत लगभग ₹65 लाख  बताई जा रही है। इस दौरान पुलिस ने एक शराब तस्कर को गिरफ्तार करने में सफलता पायी है। 

चंदौली पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार शराब तस्करी और अपराधियों के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान के दौरान इलिया मोड़ उत्तरी लेन तरफ जाने वाले रास्ते पर स्वाट टीम और चंदौली पुलिस द्वारा चेकिंग की जा रही थी तभी एक डीसीएम में शराब जाने की जानकारी मिली। पुलिस ने मौके पर उक्त डीसीएम, जिसका नंबर यूपी 22 टी 8045 बताया जा रहा है, से 365 पेटी अवैध शराब बरामद हुई है। इस मौके पर एक शराब तस्कर को गिरफ्तार किया गया है।

Wine Taksar arrested

 बाद में डीसीएम को चंदौली कोतवाली में लाकर इस घटना में संलिप्त लोगों के खिलाफ आवश्यक कार्यवाही की जा रही है।
 पुलिस ने गिरफ्तार तस्कर से पूछताछ में बताया कि यह तस्कर हरियाणा से शराब ले जाकर बिहार में बेचने का काम करता है। हर महीने यह दो चक्कर लगाकर बिहार में दोगुने दाम पर बेचने का काम करता है। पुलिस से बचने के लिए दवा की फर्जी बिल्टी तैयार करते हैं और दवा की गाड़ी बताकर शराब की तस्करी करते हैं।

 पकड़े गए शराब तस्कर का नाम हरी राम जाट पुत्र साताराम है। यह बाड़मेर जिले थे जोरापुर का रहने वाला बताया जा रहा है। इसको गिरफ्तार करने वाली टीम में स्वाट टीम प्रभारी अजीत कुमार सिंह, चंदौली कोतवाली प्रभारी संतोष कुमार सिंह, उप निरीक्षक सहिपाल यादव सहित तमाम पुलिसकर्मी उपस्थित थे। चंदौली कोतवाली पुलिस द्वारा की गई इस कार्यवाही पर उत्साहवर्धन के लिए पुलिस अधीक्षक द्वारा ₹25000 पुरस्कार की घोषणा की गई है।

चंदौली जिले की खबरों को सबसे पहले पढ़ने और जानने के लिए चंदौली समाचार के टेलीग्राम से जुड़े।*