जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
रंग महोत्सव में चौथे दिन इस तरह के कार्यक्रम की लगी रही झड़ी, दूसरे राज्यों के कलाकार हुए शामिल
चंदौली जिले के मुगलसराय में सांस्कृतिक संस्था अस्मिता नाट्य संस्थान की ओर से आयोजित मुगलसराय रंग महोत्सव में चौथे दिन के कार्यक्रम का शुभारंभ समाजसेवी सदानन्द दूबे ने मां सरस्वती के तैलचित्र पर माल्यार्पण कर किया।
 

 मुगलसराय रंग महोत्सव में कलाकार दिखा रहे हैं अपनी प्रतिभा

कार्यक्रम की लगी रही झड़ी

दूसरे राज्यों के कलाकार हुए शामिल

 

चंदौली जिले के मुगलसराय में सांस्कृतिक संस्था अस्मिता नाट्य संस्थान की ओर से आयोजित मुगलसराय रंग महोत्सव में चौथे दिन के कार्यक्रम का शुभारंभ समाजसेवी सदानन्द दूबे ने मां सरस्वती के तैलचित्र पर माल्यार्पण कर किया। वहीं स्व. चमेला देवी की स्मृति में भारतीय एकता पर आधारित रंग जुलूस निकाला गया। जिसे समाजसेवी आत्माराम तुलसियान ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।

मुगलसराय महोत्सव के चौथे दिन विभिन्न राज्यों के कलाकारों ने पारंपरिक भेष भूषा में राज्यों की प्रस्तुति दी। जिसमें राउरकेला की संस्था 'रंग' ने भगवान जगन्नाथ को याद किया। वही मुगलसराय के अक्षम उत्थान संस्था ने महिला शिक्षा पर आधारित झांकी निकाली। मणिपुर के कलाकारों ने मणिपुरी डांस का मनमोहक दृश्य प्रस्तुत किया। 

झांकी में सबसे आगे रोलर स्केटिंग संघ चंदौली के सदस्य तिरंगा झंडा लेकर आगे आगे चल रहे थे। जबकि शाम को स्व प्रकाशचंद्र गुप्ता की स्मृति में लोक नृत्य फैशन शो प्रतियोगिता का आयोजन हुआ। इसमें पटना की संस्था समग्र कला के कलाकारों ने हिंदी नाटक "जो लौट नहीं सकते" के माध्यम से गांव के अनपढ़ गवार व मजदूर वर्ग की परस्थितियिों को दर्शाता। वहीं जमशेदपुर की संस्था दीर्घिची ने युवा वर्ग में परिवार समाज की अपेक्षा के कारण भटकाव की स्थिति का चत्रिण किया।

 इस मौके पर डॉ डीके पांडेय, सतीश बिंद आदि मौजूद रहे। अध्यक्षता राजीव गुप्ता व संचालन धूप नारायण बाबुल ने किया। आयोजन की मुख्य भूमिका में विजय कुमार गुप्ता, प्रमोद अग्रहरी आदि शामिल रहे।

चंदौली जिले की खबरों को सबसे पहले पढ़ने और जानने के लिए चंदौली समाचार के टेलीग्राम से जुड़े।*