जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
नौगढ़ में एबीएसए नागेंद्र सरोज का पहला एक्शन, फरार रहने वाले गुरु जी पर कार्रवाई
चंदौली जिले के विकास खंड नौगढ़ में जिलाधिकारी संजीव  सिंह के चेतावनी का कोई असर  अध्यापकों पर दिखता नजर नहीं आ रहा है। शिक्षक घर पर रहते हैं और उपस्थिति पंजिका में दस्तखत बनाकर पूरी सैलरी लेकर मौज करते हैं
 
शिक्षक घर पर रहते हैं और उपस्थिति पंजिका में दस्तखत बनाकर पूरी सैलरी लेकर मौज करते हैं

चंदौली जिले के विकास खंड नौगढ़ में जिलाधिकारी संजीव  सिंह के चेतावनी का कोई असर  अध्यापकों पर दिखता नजर नहीं आ रहा है। शिक्षक घर पर रहते हैं और उपस्थिति पंजिका में दस्तखत बनाकर पूरी सैलरी लेकर मौज करते हैं।   

आपको बता दें कि नौगढ़ के प्राथमिक विद्यालय अमदहां में शुक्रवार को उपस्थिति पंजिका में  एक गायब रहने वाले अध्यापक की उपस्थिति दर्ज थी, रजिस्टर में उनके अलग-अलग तरह के दस्तखत भी मिले। शुक्रवार को एबीएसए के निरीक्षण के दौरान रजिस्टर में दर्ज उपस्थिति के अनुसार सहायक अध्यापक राजेश यादव को बुलाया तो वह स्कूल से नदारद थे। 

एसबीएसए ने जब हेड मास्टर नीरज सिंह से पूछा तो उन्होंने  बताया कि राजेश यादव चूना, पेंट लेने बाजार गये हैं।‌ इस पर एबीएसए स्कूल में बैठ गए, उन्होंने एक घंटे तक इंतजार किया लेकिन सहायक अध्यापक नहीं पहुंचा। इस पर राजेश यादव को नोटिस जारी कर वेतन रोक दिया और स्पष्टीकरण तलब किया है।                

बताया जा रहा है कि निरीक्षण की जानकारी होने के बाद  मौके पर पहुंचे गांव के  प्रधान प्रतिनिधि जिलाजीत सिंह यादव ने बताया कि सहायक अध्यापक राजेश यादव महीने में केवल दो तीन दिन आता है और पूरे महीने का वेतन लगातार पा रहा है। आरोप है कि स्कूल में आने के बजाज वह घर पर रहता है और कोई अन्य काम करता है। स्कूल में रहने वाले दूसरे लोग उसकी हाजिरी बना दिया करते हैं। इस मामले में हेड मास्टर की भूमिका काफी संदिग्ध है।


एबीएसए नागेंद्र सरोज बोले
शुक्रवार को रजिस्टर मेें सहायक अध्यापक राजेश यादव का दस्तखत उपस्थिति पंजिका में बना हुआ था , लेकिन वह स्कूल में नहीं था। इस पर वेतन  कटौती करने के साथ ही इन्हें नोटिस जारी किया गया है।