जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
नौगढ़ में DM का चला डंडा, FIR होने से पहले चोरों ने बिछा दी इंटरलॉकिंग सड़क
 


चंदौली जिले के तहसील नौगढ़ में इंटरलॉकिंग की सड़क चोरी होने के मामले में जिलाधिकारी संजीव सिंह का डंडा चला तो पंचायती राज विभाग के अधिकारियों ने कागजों में बनी इंटरलॉकिंग सड़क को दिन रात एक करके बनाना शुरू किया है। 80 फ़ीसदी सड़क का निर्माण पूर्ण हो चुका है।


आपको बता दें कि चेतावनी पत्र जारी होने के बाद डीपीआरओ ब्रह्मचारी दुबे इंटरलॉकिंग सड़क के बारे में जानकारी लेने हेतु बीते शुक्रवार को भी सायं काल नौगढ़ पहुंचे थे। अमृतपुर गांव से गायब हुई इंटरलॉकिंग सड़क को पंचायत सचिव गुड्डू प्रसाद के द्वारा 80 फीसदी काम पुर्ण कराया जा चुका है। 


चंदौली समाचार के खबरों का संज्ञान लेते हुए जिलाधिकारी संजीव सिंह ने मुख्यालय स्थित कैंप कार्यालय में बुलाकर डीपीआरओ ब्रह्मचारी दुबे की जमकर क्लास लगाई थी और एडीओ पंचायत प्रेमचंद्र तथा पंचायत सचिव गुड्डू प्रसाद को निलंबित करने के साथ ही कार्रवाई करने को कहा था। इसके बाद डीपीआरओ से लेकर अन्य अधिकारी और कर्मचारी इंटरलॉकिंग की सड़क को बनाने में जुट गए।

...............................

जानिए क्या था पूरा मामला

  4 सितंबर शनिवार को संपूर्ण समाधान दिवस में नौगढ़ आए जिलाधिकारी को शिकायतकर्ता विनोद यादव ने बताया था कि अमृतपुर गांव में इंटरलॉकिंग सड़क का निर्माण कराएं बिना अधिकारियों के द्वारा सरकारी धन का बंदरबांट किया गया है। 


डीएम के निर्देश पर गांव में जांच करने पहुंचे डीपीआरओ को पंचायत सचिव ने बताया था कि मैंने सड़क तो बनाई थी, साहब चोरों ने चोरी कर लिया। मौजूद गांव वालों ने बताया कि इस स्थान पर सड़क कभी बनाया ही नहीं गया है।