जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
लाल टोपी तो कुछ बोलती है, जरा सपा के कार्यालय में भी देखिए..!
वायरल फोटो में बिना टोपी के दिख रहे जिलाध्यक्ष की पार्टी में भीतर ही चर्चा होने लगी। लोग सोचने लगे आखिर क्यों जिलाध्यक्ष ने दिग्गजों के बीच में पार्टी की टोपी को नहीं पहना।
 

आखिर किसने उड़ा दी सत्यनारायण राजभर की टोपी

किस तरह दे रहे अपनी सफाई

लाल टोपी के नाम पर चुनाव में ना जाने किस तरह के अनाप-शनाप बयान सुनने को मिला। उसी समाजवादी पार्टी की पहचान और शान व्यक्त करने वाली लाल टोपी को चंदोली जनपद के समाजवादी पार्टी कार्यालय पर दिग्गजों के बीच खुद कार्यकारी जिलाध्यक्ष सत्यनारायण राजभर के नहीं लगाने से पार्टी के भीतर ही चर्चा का बाजार गर्म हो गया।।
 
समाजवादी पार्टी सरकार के मंत्री व पार्टी के दिग्गज नेता नारद राय का आगमन चंदोली जिला मुख्यालय के समाजवादी पार्टी कार्यालय पर मंगलवार को हुआ था। इस दौरान प्रेस वार्ता आयोजित की गई थी जिसमें पार्टी के पूर्व सांसद रामकिशुन यादव, सकलडीहा सपा विधायक प्रभुनारायण सिंह यादव,सैयदराजा के पूर्व विधायक  मनोज सिंह डब्लू सहित दिग्गज नेताओं के सर पर समाजवादी  पार्टी की आन बान शान कही जाने वाली टोपी लगी थी। वहीं जिलाध्यक्ष सत्यनारायण राजभर भी साथ बैठे थे, लेकिन उनके सर पर लाल टोपी नहीं लगी थी। 

वायरल फोटो में बिना टोपी के दिख रहे जिलाध्यक्ष की पार्टी में भीतर ही चर्चा होने लगी। लोग सोचने लगे आखिर क्यों जिलाध्यक्ष ने दिग्गजों के बीच में पार्टी की टोपी को नहीं पहना।

हालाकि इस संबंध में जिलाध्यक्ष सत्यनारायण राजभर में बताया कि सदस्यता अभियान के कार्य में इतना व्यस्त रहा कि मेरे सर पर टोपी है कि नहीं इसका ध्यान नहीं रहा। इस दौरान मेरी टोपी कोई लगा लिया था। 

राजभर ने कहा कि जिलाध्यक्ष के टोपी नहीं लगाने के क्या मायने हैं। अब पार्टी के लोग और जिला अध्यक्ष भी जानते हैं। लेकिन दिग्गजों के बीच में पार्टी की पहचान और शान को नहीं पहना चर्चा का विषय बन गया।

चंदौली जिले की खबरों को सबसे पहले पढ़ने और जानने के लिए चंदौली समाचार के टेलीग्राम से जुड़े।*