जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
कमला व बाबा के बाद अब इन 8 लोगों के लिए पुलिस की दबिश तेज, लगी हैं पुलिस की कई टीमें
चंदौली जिले के अलीनगर थाना सिकटिया में युवक की लाठी डंडे से पीटकर की गई हत्या के बाद चंदौली व अलीनगर थाने की पुलिस पहले की अपेक्षा अधिक सक्रिय हो गई।
 
8 लोगों के लिए पुलिस की दबिश तेज

चंदौली जिले के अलीनगर थाना सिकटिया में युवक की लाठी डंडे से पीटकर की गई हत्या के बाद चंदौली व अलीनगर थाने की पुलिस पहले की अपेक्षा अधिक सक्रिय हो गई। घटना के कुछ घंटे बाद ही पुलिस ने एक नहीं दो हत्यारोपित को गिरफ्तार कर लिया। जबकि फरार चल रहे 8 अन्य आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीम बनाकर दबिश दी जा रही है। कहा जा रहा है कि जनप्रतिनिधियों की पहल पर जिलाधिकारी संजीव सिंह ने आपदा राहत कोष से मृतक के परिजनों को चार लाख रुपये की आर्थिक सहायता देने का आश्वासन दिया है। 

पुलिस अधीक्षक अंकुर अग्रवाल ने बताया कि युवक की हत्या के बाद हिसा मामले में दस आरोपितों के खिलाफ नामजद व अन्य अज्ञात के खिलाफ एससी-एसटी एक्ट, हत्या समेत अन्य धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। आरोपितों शामिल मुख्य आरोपी कमला यादव के साथ राजू यादव, रामलखन यादव, श्यामसुंदर उर्फ कतलू, सचिन यादव, बृजेश यादव, पंकज यादव, रंजीत यादव, बाबा यादव और अमर जायसवाल उर्फ मोनू के खिलाफ मुकदमा दर्ज है। इसके साथ साथ अज्ञात लोगों पर भी पुलिस की नजर है, जिन्होंने मामले को तूल देने का काम किया है। दो की गिरफ्तारी के बाद 8 अन्य आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीम दबिश दे रही है।


आपको बता दें कि सिकटिया गांव के पास तारनपुर के बबलू पासवान की चाय और कमला यादव की मिठाई की दुकान है। बबलू और कमला के बीच किसी बात को लेकर पिछले दिनों विवाद हुआ था। आरोप है कि कमला यादव ने बबलू पासवान की गुमटी फूंक दी। मामला थाने भी पहुंचा था। मामले में अलीनगर पुलिस ने ठोस कार्रवाई करने की बजाए लापरवाही बरती और मामला रफा- दफा कर दिया। इसके बाद शुक्रवार की रात कमला यादव की गुमटी में भी आग लगा दी गई। इसको लेकर दोनों तरफ से आक्रोश गहरा गया। 


इसके बाद शनिवार की सुबह तारनपुर के विशाल पासवान (20) व उसका साथी शेरू (19) सिकटिया चौराहे की ओर गए थे। वहां पहले से ही लाठी-डंडे से लैस होकर सिकटिया गांव के लोग मौजूद थे। दोनों को देखते ही उन पर टूट पड़े। शेरू ने जैसे- तैसे भागकर अपनी जान बचाई लेकिन विशाल की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई।

इससे माहौल तनावपूर्ण हो गया है। मौके पर अलीनगर, मुगलसराय के साथ ही तीन थानों की फोर्स व पीएसी को भेजा गया। ग्रामीण पुलिस को भी आगे नहीं जाने दे रहे। शव सड़क पर रखकर चक्काजाम कर दिया है। मौके पर डीएम व एसपी को बुलाने की मांग पर अड़े रहे। सूचना के बाद मौके पर डीएम संजीव सिंह व एसपी अंकुर अग्रवाल पहुंचे। ग्रामीणों को समझा-बुझाकर शांत कराने की कोशिश की, तब जाकर मामला शांत हुआ।