जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
इन दो क्रय केन्द्रों पर हुयी धान खरीद की बोहनी, 50 क्विंटल आया धान
चंदौली जिले में धान खरीद की प्रक्रिया एक नवंबर से शुरू तो हो गयी है पर किसान धान बेंचने के लिए केन्द्र तक नहीं जा रहे थे। ऐसे में धान खरीद केन्द्रों पर बोहनी 21 दिन बाद हुई है।
 

 क्रय केन्द्रों पर हुयी धान खरीद की बोहनी

50 क्विंटल आया धान

चंदौली जिले में धान खरीद की प्रक्रिया एक नवंबर से शुरू तो हो गयी है पर किसान धान बेंचने के लिए केन्द्र तक नहीं जा रहे थे। ऐसे में धान खरीद केन्द्रों पर बोहनी 21 दिन बाद हुई है। सबसे पहले पीसीएफ के कांटा स्थित केंद्र पर एक किसान से 30 व मुख्यालय स्थित मंडी समिति में मार्केटिंग के क्रय केंद्र पर 20 क्विंटल अनाज खरीदा गया।

कहा जा रहा है कि इलाके में जैसे जैसे धान की कटाई व मड़ाई के काम जैसे-जैसे तेज होगा वैसे खरीद भी बढ़ने की संभावना है। कुछ ऐसी स्थिति पिछले साल भी देखी गयी थी और 23 नवंबर के आसपास धान की खरीद शुरू हो पायी थी।  

आपको बता दें कि शासन के निर्देश पर एक नवंबर से ही क्रय केंद्र खोल दिए गए थे। पहले 30 केंद्रों को मंजूरी मिली थी। बाद में 2.34 लाख टन के लक्ष्य को देखते हुए केंद्रों की संख्या बढ़ाकर 112 कर दी गई है। 21 दिन के इंतजार के बाद सोमवार खरीद की बोहनी हुई। दरअसल, क्रय केंद्र तो खुल गए, लेकिन धान की कटाई व मड़ाई का काम लेट होने की वजह से केद्रों पर सन्नाटा पसरा रहा। अब धान की कटाई का कार्य धीरे-धीरे शुरू हुआ है। 

सोमवार को कांटा स्थित पीसीएफ के क्रय केंद्र पर एक किसान से 30 क्विंटल अनाज खरीदा गया। वहीं मंडी समिति में विपणन के केंद्र पर भी एक किसान ने 20 क्विंटल अनाज बेचा। केंद्र प्रभारियों की ओर से शाम तक किसानों की डाटा फीडिंग पोर्टल पर कराई गई। शासन ने 24 घंटे के अंदर भुगतान का निर्देश दिया है। नवंबर के अंतिम व दिसंबर के पहले सप्ताह में धान की कटाई में तेजी आएगी। इसके बाद केंद्रों पर अनाज की आवक बढ़ेगी।


जानकारी के अनुसार जिले में अब तक 14 हजार से अधिक किसान सरकारी क्रय केंद्रों पर अनाज बेचने के लिए ऑनलाइन पंजीकरण कराया है। इनमें से लगभग तीन हजार किसानों के आवेदन का सत्यापन हो चुका है। सत्यापन वाले किसान केंद्रों पर नंबर लगाकर अपनी उपज बेच सकते हैं। इस बार पाश मशीन से खरीद का प्रविधान है। ताकि, किसी तरह की अनियमितता की गुंजाइश न रहे। 

डिप्टी आरएमओ अनूप कुमार श्रीवास्तव ने कहा कि सोमवार को दो केंद्रों पर 50 क्विंटल धान खरीदा गया है। धान बेचने वाले किसानों को समय से धनराशि का भुगतान किया जाएगा। अब धान की खरीद बढ़ने की संभावना है।