जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
बाढ़ में खराब हो गयी फसलों से किसान परेशान, कर रहे मुआवजे की मांग
किसानों का आरोप है कि सरकार दोगुने मुनाफे की बात कहती है, लेकिन बाढ़ में हम लोगों की फसल बर्बाद होने के बाद कोई भी सर्वे करने के लिए नहीं आया और ना ही अब तक कोई कार्यवाही हुई।
 

किसान पूछ रहे कब मिलेगा बाढ़ में बरबाद फसलों का मुआवजा

क्यों सोए हैं अधिकारी


चंदौली जनपद के सकलडीहा तहसील क्षेत्र के गंगा तटवर्ती इलाकों में आई बाढ़ के बाद किसानों की समस्याएं दिनों दिन बढ़ती जा रही है। किसानों की फसलें बर्बाद हो गयीं हैं। खराब हुयी फसलों को लेकर किसान प्रदर्शन करते हुए सरकार से मुआवजे की मांग कर रहे हैं। ताकि आगे की फसल की तैयारी कर सकें। 

 आपको बता दें कि सकलडीहा तहसील के गंगा तटवर्ती इलाके के दर्जनों गांव में बाढ़ के पानी से हजारों एकड़ फसल बर्बाद हो गई है। बाढ़ का पानी घटने के बाद किसानों की मुसीबत कम नहीं हुई है। किसानों का आरोप है कि सरकार दोगुने मुनाफे की बात कहती है, लेकिन बाढ़ में हम लोगों की फसल बर्बाद होने के बाद कोई भी सर्वे करने के लिए नहीं आया और ना ही अब तक कोई कार्यवाही हुई। हम लोगों की सब्जी, अरहर,मूंग ,बाजरा आदि की फसल पानी से पूरी तरह से बर्बाद हो गई है। 
किसानों का कहना है कि सरकार की तरफ से कोई भी मुआवजे की कार्यवाही नहीं की जा रही है, जिससे यह पता चले कि सरकार किसानों के बाढ़ से होने वाले नुकसान से चिंतित है। अगर समय रहते मुआवजे की कार्रवाई नहीं की गई तो किसान  धरना प्रदर्शन करने की योजना बना रहे हैं, ताकि सबके कानों तक अपनी आवाज पहुंचायी जा सके। 

इस अवसर पर हरदेव पाण्डेय, कैलाश पाण्डेय, रामजी पाण्डेय, रामायण यादव, रामबचन यादव, राजनारायण पाण्डेय आदि किसान मौजूद रहे।

चंदौली जिले की खबरों को सबसे पहले पढ़ने और जानने के लिए चंदौली समाचार के टेलीग्राम से जुड़े।*