जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
लक्ष्मण यादव बोले- पिस्टल छिनैती की घटना बेबुनियाद, लगा रहे हैं फर्जी आरोप
चंदौली जिले के धीना थाना क्षेत्र के आलमखातोपुर गांव में बीते दिनों पिस्टल छीनने की घटना का सोशल मीडिया पर चले वीडियो पर रविवार को आरोपी पक्ष की ओर से जानकारी आयी है और सारे मामले को फर्जी बताते हुए मामले में अपना पक्ष रखा है
 

जमीन पर पारिवारिक जमीन का विवाद

लक्ष्मण यादव ने पिस्टल छीनने की घटना को सरासर बेबुनियाद बताया

चंदौली जिले के धीना थाना क्षेत्र के आलमखातोपुर गांव में बीते दिनों पिस्टल छीनने की घटना का सोशल मीडिया पर चले वीडियो पर रविवार को आरोपी पक्ष की ओर से जानकारी आयी है और सारे मामले को फर्जी बताते हुए मामले में अपना पक्ष रखा है। घटना में आरोपी लक्ष्मण यादव ने पिस्टल छीनने की घटना को सरासर बेबुनियाद बताया।

लक्ष्मण यादव ने कहा कि उनके चचेरे भाई यशवंत यादव से वाराणसी के औसानगंज व आलमखातोपुर गांव में पैतृक जमीन पर पारिवारिक जमीन का विवाद है।जब हम नाबालिग थे तो तब मेरे चचेरे भाई यशवंत यादव ने मेरे चाचा शामू पहलवान को शूटरों को सुपारी देकर मरवाने का काम किया था। वाराणसी पुलिस को शार्प शूटर ने कृपाशंकर तिवारी ने मेरे चाचा को मरवाने के लिए सुपारी देने का बात स्वीकार किया था। जिसका बयान अखबार में प्रकाशित हुआ था। जिसका साक्ष्य अखबार में प्रकाशित मेरे पास मौजूद है। उस समय मेरी माताएं पढ़ी लिखी न होने के कारण वाराणसी मकान को अपने नाम कराकर रिश्तेदारों को बेच दिया। वहीं शेष जमीन पर भी कब्जा करने के नियत से मुझे बार बार परेशान किया जा रहा है।ताकि  उक्त पैतृक जमीनों पर कब्जा कर सकें।

बीते 5 अप्रैल को मेरे चचेरे भाई यशवंत यादव ने 112 नम्बर पर डायल कर पिस्टल छीनने का मनगढ़त कहानी बताने का काम किया गया है। इसके साथ ही वह पुलिस के कई अधिकारियों के यहां जाकर अपनी फर्जी शिकायत कर रहे हैं।

मामले के छानबीन में धीना थानाध्यक्ष अजीत कुमार सिंह ने गांव आकर ग्रामीणों व घटनास्थल पर मामले का छानबीन किया था।जिसमें पिस्टल छीनने का आरोप सरासर निराधर पाया गया था।