जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
3 साल के प्रेम प्रसंग के बाद पुलिस थाने में हुआ जयमाल, ऐसे माने दोनों के घर वाले
रोशन और लक्ष्मी का पिछले 3 साल से अफेयर चल रहा था। रोशन का ननिहाल लक्ष्मी के गांव में था। वह अक्सर ननिहाल आया जाया करता था। इसी दौरान दोनों की वहीं पर मुलाकात हुई थी। रोशन बलुआ थाना क्षेत्र का रहने वाला है। रोशन 11वीं तक की पढायी कर रखी है, जबकि लक्ष्मी बीए पास है।
 

लक्ष्मी को पुलिस की मदद से मिला प्यार, थाने में हुयी रोशन-लक्ष्मी की शादी, पुलिस के समझाने पर मान गए दोनों के घर वाले 

 

कहते हैं कि प्रेम जब परवान चढ़ता है तो कुछ भी नजर नहीं आता है। कभी कभी मां-बाप को बच्चों की जिद के आगे झुकने के सिवा कोई चारा नहीं रहता है। इसीलिए चंदौली जिले में एक प्रेमी जोड़े को थाने के अंदर शादी रचाने के बाद मां-बाप को आशीर्वाद देने की रस्म अदा करनी पड़ी। परिवार और पुलिसकर्मियों के आशीर्वाद से दोनों खुश नजर आए।

Love Marriage


बताया जा रहा है कि थाने के समाधान दिवस में शनिवार को एक मां अपनी बेटी की गुमशुदी की शिकायत लेकर पहुंची। मां ने बताया कि उसकी बेटी को दूसरे गांव का एक युवक बहला फुसलाकर अपने साथ ले गया है। मां ने युवक के खिलाफ अपहरण की तहरीर दी तो पुलिस एक्टिव हो गयी। मामले की छानबीन की तो लड़के के घर में लड़की मिल गयी।

लड़की बोली- रोशन से है प्यार

पुलिस को जब लड़के के घर में लक्ष्मी (22) मिली तो उसने बताया कि वो रोशन (23) से प्यार करती है। वो अपने मन से यहां आई है और वह रोशन से शादी करना चाहती है। इसके बाद पुलिस दोनों को थाने लेकर आ गई। पुलिस ने लड़की के परिवार को भी बुलाया। थाने में आने के बाद पहले तो दोनों परिवार के लोग भिड़ गए। एक दूसरे के ऊपर आरोप लगाने लगे। लेकिन पुलिसकर्मियों ने दोनों परिवारों को समझा बुझाकर शांत करवाया।

Love Marriage

बताया जा रहा है कि रोशन और लक्ष्मी का पिछले 3 साल से अफेयर चल रहा था। रोशन का ननिहाल लक्ष्मी के गांव में था। वह अक्सर ननिहाल आया जाया करता था। इसी दौरान दोनों की वहीं पर मुलाकात हुई थी। रोशन बलुआ थाना क्षेत्र का रहने वाला है। रोशन 11वीं तक की पढायी कर रखी है, जबकि लक्ष्मी बीए पास है।


दोनों ने एक-दूसरे को खिलाई मिठाई

बताया जा रहा है कि बलुआ थाने के इंस्पेक्टर राजीव कुमार ने दोनों परिवारों को समझाया। उन्होंने कहा कि दोनों बच्चों की जब शादी की इच्छा है तो घर परिवार के लोगों को दबाव नहीं डालना चाहिए। दोनों एक ही जाति के हैं तो कोई समस्या नहीं होनी चाहिए।  इनकी शादी करवा देनी चाहिए। 

काफी समझाने बुझाने के बाद इंस्पेक्टर राजीव सिंह ने दोनों का थाने में ही जयमाल करवा दिया। उसके बाद दोनों को मिठाई खिलाकर लड़का-लड़की को 500 रुपए भी आशीर्वाद स्वरूप दिए। साथ ही पेपर पर यह भी लिखावाया कि दोनों मंदिर में जाकर पूरे विधि-विधान से अपनी शादी करेंगे।