जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
मिड-डे-मिल योजना : 1 साल से वेतन न मिलने से रसोइयों ने किया प्रदर्शन
किरन ने बताया कि पिछले एक साल से एक रुपया भी वेतन नहीं मिला, जिससे घर परिवार को चलाना मुश्किल हो गया है।
 

अधिकारियों से बार-बार किया आग्र

फिर भी नहीं मिला वेतन

चंदौली जिले के चहनिया मारुफपुर में शिक्षा विभाग द्वारा संचालित मिड-डे-मिल योजना को सुचारू रूप से संचालित करने और उसे गति प्रदान करने के लिए प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक विद्यालयों में बच्चों को भोजन बनाने के लिए रसोईयों की नियुक्ति की गई है। किंतु क्षेत्र के कम्पोजिट विद्यालय शेरपुर सरैया में नियुक्त पांच रसोईयों का साल भर से वेतन न मिलने के कारण ये भुखमरी की कगार पर पहुंच चुकी हैं।


     जानकारी के अनुसार शेरपुर सरैया कम्पोजिट विद्यालय पर किरन, माला, उर्मिला, पौधारी और प्यारी रसोइयां के रूप में नियुक्त हैं। किरन ने बताया कि पिछले एक साल से एक रुपया भी वेतन नहीं मिला, जिससे घर परिवार को चलाना मुश्किल हो गया है। प्यारी ने बताया कि अधिकारियों को भी बताया लेकिन कोई फर्क नहीं पड़ा। उर्मिला ने बताया कि मजबूर होकर हम लोगों को आज प्रदर्शन करना पड़ा। 


     सभी रसोईयों ने बताया कि यदि एक हफ्ते में हम लोगों का वेतन नहीं मिला तो हम सभी लोग बीएसए कार्यालय में धरना देंगी।

चंदौली जिले की खबरों को सबसे पहले पढ़ने और जानने के लिए चंदौली समाचार के टेलीग्राम से जुड़े।*