जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
381 सकलडीहा विधानसभा : भारतीय जनता पार्टी के एक और भी दावेदार, कर रहे ऐतिहासिक जीत का दावा
सकलडीहा विधानसभा में भारतीय जनता पार्टी ने अभी तक अपने किसी प्रत्याशी के नाम की घोषणा नहीं की है।
 

इस नेता के बधाई संदेश से शुरू हो गयी दावेदारी की चर्चा

जानिए कैसी ऐतिहासिक जीत का दावा कर रहे हैं उपेंद्र नाथ सिंह गुड्डू   

चंदौली जिले के सकलडीहा विधानसभा में भारतीय जनता पार्टी ने अभी तक अपने किसी प्रत्याशी के नाम की घोषणा नहीं की है। इसी के चलते कई दावेदार अपने प्रचार प्रसार के साथ साथ अपने को सबसे बड़ा दावेदार बताने में जुटे हुए हैं। इसी कड़ी में भाजपायी रंग में एक बधाई संदेश वाले मैसेज से एक नए दावेदार पर चर्चा शुरू हो गयी है, जिससे अभी तक दावेदारी कर रहे लोगों में हड़कंप मचने लगी है।

अभी कुछ दिन पहले सकलडीहा विधानसभा के लोगों से चंदौली समाचार ने यह जानना चाहा कि भारतीय  जनता पार्टी का टिकट किसे मिलाना चाहिए और क्यों तो कई गांव के लोगों फिलहाल चर्चा में दिख रहे चेहरों व पोस्टर-होर्डिंग पर अपना प्रचार प्रसार करने वाले नेताओं का नाम लिया था। लोगों ने प्रत्याशियों के जनसंपर्क और लोगों के सुखदुख में शामिल होने के आधार पर उम्मीदवार बनाए जाने की अपनी राय जाहिर की थी।

उपेन्द्र सिंह

लेकिन सकलडीहा विधानसभा में एक और नया नाम चर्चा में आ गया है। भारतीय जनता पार्टी की तरफ से दावेदारी करने के लिए बसपा के टिकट पर पिछला विधानसभा चुनाव लड़ चुके उपेंद्र नाथ सिंह गुड्डू ने भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ने की अपनी इच्छा जता दी है।

 बताते चलें कि उपेंद्र नाथ सिंह गुड्डू की पत्नी श्रीमती ममता सिंह 2010 से 2015 तक चहनियां ब्लॉक की प्रमुख रहीं और 2015 में सकलडीहा से जिला पंचायत सदस्य भी चुनी गयीं थीं। 2017 में सकलडीहा विधानसभा से उपेंद्र नाथ सिंह गुड्डू बहुजन समाज पार्टी के प्रत्याशी के रूप में चुनाव लड़े थे और तीसरे स्थान पर रहे थे। 

उपेन्द्र सिंह

जब चंदौली समाचार ने उनसे बात करने की कोशिश की तो उन्होंने बताया कि भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी के रूप में अपनी दावेदारी का आवेदन किया है और पार्टी की तरफ से उन्हें अगर प्रत्याशी बनाया जाता है तो पूरे दमखम के साथ सकलडीहा विधानसभा में अपनी जीत हासिल करेंगे। इलाके के समीकरण के साथ साथ भाजपा के वोटबैंक के जरिए वह इतनी बड़ी जीत होगी, जिसे आजादी के बाद जिले में किसी भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार ने नहीं दर्ज की होगी। 

उपेन्द्र सिंह

इस इलाके में कहा जाता है कि दमदार यादव उम्मीदवार को तगड़ी टक्कर कोई क्षत्रिय उम्मीदवार ही दे सकता है। यह बात धानापुर व सकलडीहा विधानसभा में साबित हो चुकी है। इसीलिए लोग अक्सर विधायक सुशील सिंह का नाम लेते हैं। वैसे देखा जाय तो सकलडीहा के पूर्व विधायक सुशील सिंह सैयदराजा को अपनी पहली पसंद बताते हैं और पार्टी के निर्देश पर कहीं से भी चुनाव लड़कर जीतने का दावा करते हैं। पर अगर सुशील सिंह की जगह किसी दमदार क्षत्रिय उम्मीदवार के नाम पर चर्चा हुयी तो उपेंद्र नाथ सिंह गुड्डू भी एक विकल्प बन सकते हैं।