जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
.....और जब सकलडीहा तहसील में लगे सांसद व तहसीलदार के खिलाफ नारे
नाराज अधिवक्ताओं ने तहसील परिसर में भ्रमणकर भ्रष्ट तहसीलदार वापस जाओ और सांसद के खिलाफ जमकर नारेबाजी किया।
 

वंदना मिश्रा व सांसद के खिलाफ नारेबाजी

सकलडीहा के अधिवक्ता हैं नाराज

दोबारा तैनाती से हैं नाराज

शुरू हो गया कार्य बहिष्कार

चंदौली के सकलडीहा तहसील में दोबारा से तहसीलदार वंदना मिश्रा को तैनात करने के खिलाफ प्रदर्शन शुरू हो गया है। जिलाधिकारी के फैसले के खिलाफ आवाज उठाते हुए वंदना मिश्रा के दोबारा तैनात होने पर वकीलों ने नाराजगी जतायी है। साथ ही मामले में सांसद के खिलाफ भी नारेबाजी की। अधिवक्ताओं और फरियादियों ने गुरुवार को तहसील के गेट पर प्रदर्शन करके तहसीलदार का स्थानांतरण करने की मांग की। उन्होंने चेतावनी दी कि अगर ऐसा नहीं किया गया तो अधिवक्ता बड़ा आंदोलन करेंगे। 

Advocates Protest

सकलडीहा में तैनाती के दौरान तहसीलदार वंदना मिश्रा पर कई बार भ्रष्टाचार के आरोप लगे थे और इसके बाद उन्हें डीएम ने गैर तहसील में स्थानांतरित कर दिया था। कुछ दिन बाद ही वह दोबारा सकलडीहा तहसील में तैनाती पा गयीं हैं। इससे अधिवक्ताओं में जबरदस्त नाराजगी है। नाराज अधिवक्ताओं ने तहसील परिसर में भ्रमणकर भ्रष्ट तहसीलदार वापस जाओ और सांसद के खिलाफ जमकर नारेबाजी किया।

इस मामले में सकलडीहा बार एसोसिएशन के महामंत्री पंकज कुमार सिंह ने कहा कि भ्रष्टाचारी तहसीलदार से आम जनता और अधिवक्ता पूर्व में त्रस्त थे। जिसका विरोध किया गया था। तब तत्कालीन जिलाधिकारी संजीव सिंह ने तहसीलदार का स्थानांतरण सदर तहसील में न्यायिक तहसीलदार के पद पर किया था, लेकिन विडंबना यह है कि कुछ समय बाद ही अपर जिलाधिकारी से साठगांठ कर न्यायिक के पद पर सकलडीहा में तैनात हो गयीं हैं।

अधिवक्ताओं ने ऐलान करते हुए कहा कि अधिवक्ताओं ने सामूहिक रूप से चेतावनी देते हुए कहा कि भ्रष्टाचार में डूबी तहसीलदार का स्थानांतरण जब तक नहीं किया जाता तब तक हम लोग विरोध प्रदर्शन करते हुए न्यायिक कार्य से विरत रहेंगे। इनकी तैनाती नियम विरुद्ध है। उन्होंने कहा कि शासन का निर्देश है कि तीन साल से ऊपर कोई अधिकारी एक जनपद में तैनात नहीं रह सकता। 

बताया जा रहा है कि प्रदर्शन करने वालों में नितिन तिवारी, पंकज कुमार सिंह, सचिदानंद सिंह, रामराज यादव, शैलेन्द्र पांडेय कवि, श्रीकांत राजभर, जयप्रकाश यादव, राजकुमार, इसरार अहमद, विवेकानंद पाण्डेय, सचिदानन्द पांडेय, विजय यादव, चन्द्रभूषण राम, शिवगोबिंद सिंह, अभय मौर्या, विजय बहादुर, दीपक कुमार, अंकित तिवारी, दिग्विजय सिंह मौजूद रहे।

चंदौली जिले की खबरों को सबसे पहले पढ़ने और जानने के लिए चंदौली समाचार के टेलीग्राम से जुड़े।*