जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
चंदौली का लाल अशीष सिंह यूपी की फुटबॉल टीम में शामिल, खेलेगा संतोष ट्रॉफी
नक्सल प्रभावित जिले में स्टेडियम नहीं है। ऐसे में खिलाड़ियों को निखारने वाले कोच का अभाव है। सरकार और जनप्रतिनिधियों को इसके बारे में पहल करनी चाहिए।
 

 माटीगांव के निवासी हैं अशीष सिंह

रेनूकोट स्थित हिंडाल्को में करते हैं जॉब

मुराबाद में 15 से 22 नंवबर तक होगी संतोष ट्राफी

 

चंदौली जिले के सकलडीहा विकासखंड के माटीगांव के निवासी अशीष सिंह यूपी के मुराबाद में 15 से 22 नंवबर तक आयोजित संतोष ट्राफी में खेलेंगे। आशीष विंध्याचल मंडल की टीम का हिस्सा होंगे। उनके चयन से परिवार और जिले में खुशी की लहर है। आशीष सोनभद्र जिले के रेनूकोट स्थित हिंडाल्को में जॉब करते हैं।

Ashish Singh

आशीष ने बताया उनकी कामयाबी का श्रेय अपने गुरु पूर्व फुटबालर स्वर्गीय मनीष सिंह को देते हैं। आशीष सिंह उर्फ गोलू के पिता अशोक सिंह किसान है और माता सरिता देवी गृहणी हैं। किसान परिवार में जन्मे आशीष सिंह की शुरुआती पढ़ाई गांव के आदर्श इंटर कालेज में हुई। इस दौरान आशीष का रुझान फुटबाल के प्रति बढ़ने लगा। शुरुआती दौर में आशीष गांव के राजपूत स्पोर्टिंग क्लब की ओर से खेलना शुरू किया और कई शहरों और राज्यों में आयोजित प्रतियोगिता में अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया। हालांकि इसी बीच में हिंडाल्को में जॉब मिल जाने के चलते आशीष सोनभद्र के रेनूकोट चले गए। जहां उन्होंने जॉब के साथ फुटबाल में कठिन मेहनत करते रहे।

आशीष सिंह ने बताया कि ग्रामीण इलाके में प्रतिभाओं की कोई कमी नहीं है। हालांकि संसाधनों के अभाव के चलते खिलाड़ी आधुनिक रूप से तैयारी नहीं कर पाते हैं। जिसके चलते उन्हें आगे बढ़ने का मौका नहीं मिलता है। बताया कि नक्सल प्रभावित जिले में स्टेडियम नहीं है। ऐसे में खिलाड़ियों को निखारने वाले कोच का अभाव है। सरकार और जनप्रतिनिधियों को इसके बारे में पहल करनी चाहिए।

चंदौली जिले की खबरों को सबसे पहले पढ़ने और जानने के लिए चंदौली समाचार के टेलीग्राम से जुड़े।*