जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
चंदौली में सीएम सामूहिक विवाह में गड़बड़ी की जांच शुरू, उपनिदेशक समाज कल्याण पहुंचे चंदौली
 शादी संपन्न होने के बाद अफसरों ने गरीब परिवार की बेटियों को मिलने वाली सुविधाओं में कटौती कर दी।
 

रविवार को लाभार्थियों ने सुनाया अपना दर्द

बोले-अफसरों ने गटक लिया पायल और बिछिया

एडीओ अरुण कुमार की करतूत से बदनाम हो रहा विभाग


चंदौली जिले के सदर ब्लाक में मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह ‌के दौरान लाभार्थियों के साथ हुई गड़बड़ी की जांच शुरू हो गई है। रविवार को सदर ब्लाक में जांच के लिए पहुंचे उपनिदेशक समाज कल्याण कन्हैया गुप्ता को लाभार्थियों ने अपना दर्द सुनाया। बोले, भ्रष्टाचार में डूबे अफसरों ने गटक लिया पायल और बिछिया। 

आपको बता दें कि सदर ब्लाक परिसर में 10 जून को मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह का आयोजन हुआ ‌था। इस समारोह में डीएम संजीव सिंह और मुगलसराय से भाजपा विधायक रमेश जायसवाल बतौर अतिथि शामिल हुए। लेकिन शादी संपन्न होने के बाद अफसरों ने गरीब परिवार की बेटियों को मिलने वाली सुविधाओं में कटौती कर दी। जिसको लेकर ब्लाक क्षेत्र के विभिन्न गांवों के लाभार्थियों ने डीएम संजीव सिंह से मिलकर एडीओ (समाज कल्याण) अरुण कुमार के करतूतों को सामने रखा। इसके बाद ब्लाक में तैनात अफसरों के में खलबली मची हुई है।

CM Samuhik Vivah Scam  

हालांकि रविवार को अवकाश के दिन वाराणसी से आए उप निदेशक समाज कल्याण कन्हैया गुप्ता ने बारी-बारी से लाभार्थियों का बयान दर्ज किया। उन्होने बताया कि लाभार्थियों का बयान दर्ज कर लिया गया है। मामला काफी संदिग्ध लग रहा है। अब रिपोर्ट को शासन को भेजी जाएगी। 

ब्लाक में 98 जोड़ों की हुई थी शादी

सदर ब्लाक परिसर में दस जून को 98 जोड़ों की शादी वैवाहिक विधि से संपन्न कराई, लेकिन शादी के बाद वैवाहिक जोड़ों को शासन की तरफ से मिलने वाली सुविधाओं में कटौती कर दी। इसके लिए ब्लाक में तैनात एडीओ (समाज कल्याण) अरूण कुमार पर ज्यादा लाभार्थी आरोप लगा रहे हैं।

चंदौली जिले की खबरों को सबसे पहले पढ़ने और जानने के लिए चंदौली समाचार के टेलीग्राम से जुड़े।*