जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
मीटिंग में सवाल-जवाब और आरोप-प्रत्यारोपों पर बवाल, एकाउंटेंट जियालाल पर भड़के प्रधान व बीडीसी

चंदौली जिले के चकिया विकास खंड सभागार में मंगलवार को आयोजित क्षेत्र पंचायत की बैठक में भारी हंगामा हुआ। एक दूसरे पर लगाए जा रहे तमाम तरह के आरोपों के कारण इस बैठक में खूब बवाल काटा गया, जिसके कारण बैठक में विकास कार्यो से संबंधित कोई भी प्रस्ताव पारित नही किया जा सका

 
मनरेगा के कार्यों की एनओसी में अंड़गा लगाने का आरोप प्रधानों पर लगाया

चंदौली जिले के चकिया विकास खंड सभागार में मंगलवार को आयोजित क्षेत्र पंचायत की बैठक में भारी हंगामा हुआ। एक दूसरे पर लगाए जा रहे तमाम तरह के आरोपों के कारण इस बैठक में खूब बवाल काटा गया, जिसके कारण बैठक में विकास कार्यो से संबंधित कोई भी प्रस्ताव पारित नही किया जा सका।

कहा जा रहा है कि  बैठक का संचालन कर रहे एकाउंटेंट के द्वारा की गयी टिप्पणी से नाराज प्रधानों ने बैठक का बहिष्कार कर दिया, वहीं क्षेत्र पंचायत सदस्यों द्वारा मनरेगा के कार्यों की एनओसी में अंड़गा लगाने का आरोप प्रधानों पर लगाया। जिससे बैठक में हंगामा हुआ।

चकिया क्षेत्र पंचायत की बैठक ब्लाक प्रमुख शम्भूनाथ यादव की अध्यक्षता में दोपहर एक बजे से आरंभ हुई। बैठक का संचालन कर रहे एकाउंटेंट जियालाल यादव ने मनरेगा में दस करोड़ रुपये के लेबर बजट का हवाला देते हुए कहा कि इसमें 80 प्रतिशत कार्य ग्राम पंचायतों को कराना है तथा 20 प्रतिशत कार्य क्षेत्र पंचायत के जरिये कराया जायेगा। 

इसी दौरान कई क्षेत्र पंचायत सदस्यों ने प्रधानों द्वारा क्षेत्र पंचायत के कार्यों की एनओसी न दिये जाने का आरोप लगाया, जिससे माहौल गरम हो गया । ग्राम प्रधान प्रतिनिधि अरविंद पांडेय ने मनरेगा में लेबर कास्ट तथा मैटेरियल कास्ट बढ़ने का मामला उठाते हुए शासन द्वारा निर्धारित रेट बढ़ाने की मांग की। जिस पर संचालक एकाउंटेंट ने उनका जवाब देने की कोशिश की जो प्रधानों को नागवार गुजरी तथा प्रधानों ने एकाउंटेंट के बोलने पर एतराज जताया। उसी दौरान क्षेत्र पंचायत सदस्य हिमांशु उर्फ सुनील पाठक व महिला क्षेत्र पंचायत सदस्य संजू पटेल ने प्रधानों का प्रतिवाद करने की कोशिश की। जिससे नाराज होकर प्रधानों ने नारेबाजी करते हुए क्षेत्र पंचायत के बैठक का बहिष्कार कर दिया।

हंगामे के दौरान ब्लाक प्रमुख ने भी प्रधानों एवं क्षेत्र पंचायत सदस्यों को समझाने की कोशिश की लेकिन उनकी किसी ने नहीं सुनीं। 

बैठक के दौरान खंड विकास अधिकारी रविन्द्र प्रताप यादव, चकिया रेंजर अकबाल बहादुर सिंह, विद्युत विभाग के उपखंड अधिकारी अनिल सिंह, एबीएसए प्रकाश चन्द्र यादव, बाल विकास परियोजना अधिकारी राकेश बहादुर, एडीओ को-आपरेटिव शरद सिंह, एडीओ एमआई आगाज खान ने एजेंडे के अनुसार शासन की योजनाओं की जानकारी दी। बैठक में हंगामे के कारण कोई प्रस्ताव पारित नही हो सका। सिर्फ पूर्व की बैठक के प्रस्तावों के अनुसार हुए कार्यों का अनुमोदन ही हो सका।