जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
आईजीआरएस शिकायतों के मामले में 13वें स्थान पर है चंदौली, देखिए मामलों की हकीकत
जिले में राजस्व, सिंचाई, ग्राम्य विकास समेत अन्य विभागों की शिकायतें समय से निस्तारित होने की वजह से अगस्त माह की रैंकिग में जिला 13वें स्थान पर पहुंच गया।
 

चंदौली जिला आक्षांत्मक जिलों के डेल्टा रैंकिंग में चंदौली प्रदेश 13वें स्थान पर पहुंच गया है। जनपद अगस्त माह में आईजीआरएस निपटारे में प्रदेश में 13वें पायदान पर रहा है। 2021 अगस्त से 2022 के अगस्त तक कुल 28,922 शिकायतों के सापेक्ष 28,350 शिकायतों का निस्तारण हो चुका है। अभी भी 568 मामले पेंडिंग में हैं। उम्मीद है इन मामलों का भी जल्द निस्तारण किया जाएगा।

जिले में राजस्व, सिंचाई, ग्राम्य विकास समेत अन्य विभागों की शिकायतें समय से निस्तारित होने की वजह से अगस्त माह की रैंकिग में जिला 13वें स्थान पर पहुंच गया। जबकि शासन स्तर से शिकायतों के निस्तारण की लगातार समीक्षा की जा रही है। आईजीआरएस पोर्टल पर आने वाली शिकायतों के निस्तारण पर अंक दिए जाते हैं। शिकायतों की मार्किंग और अग्रसारण के लिए 10 नंबर, जीरो डिफाल्टर संदर्भ होने पर 50, सी श्रेणी के संदर्भ पर 15, शिकायतों को श्रेणीबद्ध करने पर 10 और संदर्भों की फीडिंग पर 10 नंबर दिए जाते हैं। इसके आधार पर ही रैंकिग की जाती है।

ऐसी है शिकायतों के निस्तारण की स्टाइल
 बलुआ थाना क्षेत्र के हसनपुर गांव निवासी रामदुलार यादव ने लगभग 2 माह पूर्व मुख्यमंत्री के पोर्टल पर शिकायत कर जल निकासी की मांग की थी। लेकिन अभी तक इसका निस्तारण नहीं हो पाया। उनका कहना है कि एक दिन लेखपाल ने फोन करके बात की लेकिन इसके बाद उन्होंने इसका निस्तारण नहीं कर पाए। इस मामले का निस्तारण तत्काल किया जाए ताकि जल निकासी की समस्या दूर हो सके। 

आईजीआरएस पोर्टल के सहायक पटल अधिकारी केहर सिंह का दावा है कि आइजीआरएस पोर्टल पर जो भी शिकायतें आती हैं, उसका निस्तारण जल्द से जल्द करने का प्रयास किया जाता है। जो मामले पेंडिंग हैं, उसका भी निस्तारण जल्द होने की उम्मीद है। इससे जिले की रैंकिंग और बेहतर होगी।

चंदौली जिले की खबरों को सबसे पहले पढ़ने और जानने के लिए चंदौली समाचार के टेलीग्राम से जुड़े।*