जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
चंद्रशेखर आजाद का ऐलान : 72 घंटे में गिरफ्तारी नहीं हुयी तो शुरू होगा बड़ा आंदोलन
भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद रावण एक बार फिर से उत्तर प्रदेश सरकार को निशाने पर लिया है और चंदौली जिले के मनराजपुर गांव में निशा यादव उर्फ गुड़िया की मौत के बाद पुलिस की कार्यवाही पर असंतोष जताते हुए इस मामले में सीबीआई जांच और 72 घंटे के भीतर आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग की है।
 
पीड़ित परिवार के लिए 50 लाख के मुआवजे के साथ-साथ  परिवार के एक व्यक्ति के लिए सरकारी नौकरी की मांग की

भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद रावण एक बार फिर से उत्तर प्रदेश सरकार को निशाने पर लिया है और चंदौली जिले के मनराजपुर गांव में निशा यादव उर्फ गुड़िया की मौत के बाद पुलिस की कार्यवाही पर असंतोष जताते हुए इस मामले में सीबीआई जांच और 72 घंटे के भीतर आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग की है। ऐसा नहीं होने पर वह चंदौली जिला मुख्यालय पर एक बड़ा आंदोलन शुरू करेंगे, जिसमें वह खुद शिरकत करेंगे।

 आपको बता दें कि सैयदराजा थाना क्षेत्र के मनराजपुर गांव में आजकल राजनीतिक माहौल गरमाया हुआ है। समाजवादी पार्टी बहुजन समाज पार्टी, कांग्रेस पार्टी के बाद भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद रावण ने कन्हैया यादव के परिवार से मिलकर पूरे मामले की जानकारी ली है और कहा है कि उत्तर प्रदेश सरकार की मौजूदा कानून व्यवस्था में सामाजिक न्याय कैसे हो सकता है। उन्होंने पीड़ित परिवार के लिए 50 लाख के मुआवजे के साथ-साथ  परिवार के एक व्यक्ति के लिए सरकारी नौकरी की मांग की है।

पुलिस करवा सकती है हत्या

 चंद्रशेखर आजाद ने कहा कि पूरा परिवार दहशत में जी रहा है और पुलिस की कार्यवाही पर उनको कोई भरोसा नहीं है। उनका यह भी आरोप था कि पुलिस कभी भी इनकी या इनके परिवार के लोगों की हत्या करवा सकती है, ताकि वह अपने आप को बचा सके। इसलिए इनके परिवार की विशेष सुरक्षा की जानी चाहिए।

 चंद्रशेखर आजाद ने कहा कि वह जिला प्रशासन और सरकार को 72 घंटे का समय दे रहे हैं। अगर इस दौरान आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होती है, तो वह चंदौली जिला मुख्यालय पर एक बड़ा धरना शुरू करेंगे, जिसमें वह खुद सम्मिलित रहेंगे। 

रक्षक बन गए हैं भक्षक

मीडिया का सवाल पर जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि चंदौली हो या मथुरा, ललितपुर हो या गाजियाबाद कहीं पर भी बेटी सुरक्षित नहीं है। वर्तमान समय में पुलिस ही रक्षक के स्थान पर भक्षक बन गई है। जब थाने में ही रेप और पुलिस वाले ही मर्डर कर रहे हैं तो बताइए उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था को आप क्या कह सकते हैं। 

आजाद ने कहा कि सारे आरोपियों को सत्ता का समर्थन प्राप्त है और उत्तर प्रदेश में बेटियां भाजपा के राज में सुरक्षित नहीं महसूस कर रही हैं। चंद्रशेखर रावण ने यह भी कहा कि इस मामले की जांच के साथ-साथ आरोपियों को गिरफ्तार करके उनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई हो और पूरे मामले को फास्ट ट्रैक में मुकदमा चलाकर सुना जाए ताकि आरोपियों को जल्द से जल्द सजा मिले अन्यथा पुलिस वाले मिलीभगत करके इस मामले में लीपापोती कर देंगे।

72 घंटे बाद होगा बड़ा आंदोलन

 चंद्रशेखर आजाद ने कहा कि यहां के थानेदार को आरोपी पुलिस इंस्पेक्टर बार-बार फोन कर रहा है। ऐसी स्थिति में जांच प्रभावित होने लगेगी। अगर उसकी 72 घंटे में गिरफ्तारी करके जेल भेजने की कार्यवाही नहीं शुरू की जाती तो वह चंदौली जिला मुख्यालय पर एक बड़ा आंदोलन शुरू करेंगे।