जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
...तो लीजिए बंद हो गया नगवा चोचकपुर घाट वाला पीपा पुल, यह है तकनीकि कारण
लोगों का कहना है कि इस पीपा पुल बंद हो जाने से लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है। बड़ी नाव में भी एक साथ ज्यादा लोग सफर नहीं कर सकते और उन्हें गंगा पार करने में घंटों इंतजार करना पड़ता है।
 

पीपापुल बंद होने से नाव के सहारे होगा आवागमन

 4 महीने के लिए पुल होता है बंद

 बरसात के बहाने पुल को बंद करने की योजना

 4 मोटर वाली नावों की है व्यवस्था

चंदौली जिले के धानापुर इलाके में गंगा नदी पर बनाए गए नगवा चोचकपुर घाट वाले पीपे के पुल को बुधवार की रात को हटा दिया जा रहा है। यह पुल वर्ष में चार माह बारिश के दिनों में हटा दिया जाता है। इस दौरान इंजन वाली बड़ी नावों का संचालन विभाग करता है, जिसके सहारे ही आवागमन संभव होता है। पुल हटने से गाजीपुर सहित पड़ोसी जिलों के लोगो को लगभग 50 से 60 किलोमीटर का सफर करने के बाद ही जिले में प्रवेश हो पाता है।

इस बारे में जानकारी देते हुए पीडब्लयूडी के अवर अभियंता आरके चौहान ने बताया कि 15 जून से चार माह के लिए पीपा पुल बंद कर दिया जाएगा। चार बड़ी इंजन लगी नावों का संचालन किया जाएगा, जिससे आने-जाने में लोगो को परेशानी नहीं हो। 

लोगों का कहना है कि इस पीपा पुल बंद हो जाने से लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है। बड़ी नाव में भी एक साथ ज्यादा लोग सफर नहीं कर सकते और उन्हें गंगा पार करने में घंटों इंतजार करना पड़ता है। यह नावें समय के अंतराल पर इस पार से उस पार जाने का मौका देती हैं। इसके बंद होने का असर केवल चंदौली ही नहीं गाजीपुर के लोगों पर भी पड़ेगा। अब उनको लंबा रास्ता तय करना होगा।

 

चंदौली जिले की खबरों को सबसे पहले पढ़ने और जानने के लिए चंदौली समाचार के टेलीग्राम से जुड़े।*