जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
जाते जाते यह काम कर गए डीएम साहब, नप गए एडीओ व बीडीओ
शादी होने के बाद लाभार्थियों को मिलने वाली सुविधाओं में कटौती कर दी गई। विभिन्न गांवों की लाभार्थियों ने डीएम संजीव सिंह से मिलकर शिकायत की।
 

मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना में हेराफेरी का मामला

जिलाधिकारी ने की दो अफसरों पर कार्रवाई

जाते जाते नप गए एडीओ व बीडीओ
 

चंदौली जिले में मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना में लाभार्थियों की तरफ से हस्ताक्षर कराकर उपहार में पायल, बिछिया न दिए जाने की शिकायत जांच के बाद सही पाई गई। जिसपर डीएम ने सदर ब्लाक के प्रभारी एडीओ समाज कल्याण अरूण कुमार को निलंबित कर दिया। वहीं शिथिल पर्यवेक्षण के चलते बीडीओ तारकेश्वर तिवारी को पद से हटाते हुए स्पष्टीकरण मांगा है। इस कार्रवाई से विभागीय कर्मियों में खलबली मच गई है।

सदर ब्लॉक परिसर 10 जून को विधायक रमेश जायसवाल, डीएम संजीव सिंह की मौजूदगी में मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह के तहत 98 जोड़ों की शादी हुई थी। शादी होने के बाद लाभार्थियों को मिलने वाली सुविधाओं में कटौती कर दी गई। विभिन्न गांवों की लाभार्थियों ने डीएम संजीव सिंह से मिलकर शिकायत की। अधिकारियों पर पायल और बिछिया सहित अन्य सामान नहीं दिए जाने का आरोप लगाया। इस पर डीएम ने इसे गंभीरता से लेते हुए सदर एसडीएम अजय मिश्रा और समाज कल्याण अधिकारी नागेंद्र मौर्य से प्रकरण की जांच कराई।

उप निदेशक समाज कल्याण कन्हैया गुप्ता ने लाभार्थियों का बयान दर्ज किया। साथ ही रिपोर्ट डायरेक्टर समाज कल्याण को प्रेषित किया था। जांच में आरोप सही पाया गया। इस पर जिलाधिकारी ने प्रभारी एडीओ समाज कल्याण को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया। वहीं कार्य में घोर लापरवाही के कारण बीडीओ तारकेश्वर तिवारी को पद से हटा दिया गया। साथ ही उनसे स्पष्टीकरण प्राप्त किया गया। उनके स्थान पर अब सतीशचंद्र त्रिपाठी को खंड विकास अधिकारी पद पर तैनात किया गया है।

चंदौली जिले की खबरों को सबसे पहले पढ़ने और जानने के लिए चंदौली समाचार के टेलीग्राम से जुड़े।*