जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
विकास कार्यों में तेजी लाने के लिए समन्वय बढ़ाने पर डीएम साहब ने दिया जोर, यह है जिलाधिकारी का फरमान
विकास कार्यों में पारदर्शिता एवं गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखा जाये। जिलाधिकारी ने समस्त जिलास्तरीय अधिकारीगण को निर्देश देते हुए कहा कि अपने- अपने विभाग की योजनाओं में बेहतर कार्य करना सुनिश्चित करें ताकि जनपद का परफॉर्मेंस मण्डल स्तर पर प्रथम श्रेणी में हो।
 
आयुष्मान गोल्डेन कार्ड बनाने पर जोर, जिलाधिकारी की 37 बिंदु की समीक्षा बैठक, तालमेल बढ़ाने पर सारा जोर

चंदौली जिले के जिलाधिकारी संजीव सिंह ने बुधवार को कलेक्ट्रेट सभागार में विकास कार्यो की 37 बिंदु की समीक्षा बैठक की। बैठक में जिलाधिकारी ने मुख्यमंत्री के प्राथमिकता वाले 37 बिन्दुओं एवं 50 लाख रुपये की लागत के कार्यों की समीक्षा करते हुए निर्देश दिये हैं कि सभी विभाग अपने कार्यों में आपसी सामंजस्य बनाकर तेजी लायें।

 उन्होंने कहा कि किये गये विकास कार्यों में पारदर्शिता एवं गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखा जाये। जिलाधिकारी ने समस्त जिलास्तरीय अधिकारीगण को निर्देश देते हुए कहा कि अपने- अपने विभाग की योजनाओं में बेहतर कार्य करना सुनिश्चित करें ताकि जनपद का परफॉर्मेंस मण्डल स्तर पर प्रथम श्रेणी में हो।


 जिलाधिकारी ने पेयजल योजना की समीक्षा करते हुए कहा कि निर्माणाधीन पेयजल परियोजनाओं में तेजी लाया जाए साथ ही यह सुनिश्चित किया जाए कि मानक में अनदेखी किसी भी दशा में न हो। 
शिक्षा विभाग की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने बेसिक शिक्षा अधिकारी को निर्देश देते हुए कहा कि ऑपरेशन कायाकल्प योजना के तहत सभी विद्यालयों में छात्र छात्राओं के लिए अलग-अलग शौचालय, पेयजल व्यवस्था, फर्नीचर, बिजली, टाइलिंग का कार्य सहित अन्य मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध हो। अध्यापकों की उपस्थिति समय से सुनिश्चित हो इसके लिए स्वयं निरीक्षण कर लापरवाह शिक्षकों पर कार्रवाई सुनिश्चित किया जाए। मिड डे मील की गुणवत्ता पूरी तरह मानक व रोस्टर के अनुसार हो सुनिश्चित हो। 

DM Chandauli Meeting


स्कूल चलो अभियान के तहत सभी बच्चों को यूनिफॉर्म जूते- मोजे  शत-प्रतिशत अभिभावकों से खरीद करवाना सुनिश्चित करें। सभी बच्चे यूनिफॉर्म में हो इसका शत-प्रतिशत कंप्लायंस सुनिश्चित किया जाय। पंचायती राज विभाग की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने एडीओ पंचायत से कहा कि निर्मित पंचायत भवन के अलावा निर्माणधीन व जमीन चिन्हित वाले पंचायत भवन की रिपोर्ट 03 दिवस में प्रस्तुत करें। रोस्टर के अनुसार ग्राम पंचायत भवन पर सेंगेटरी, लेखपाल सहित संबंधित अधिकारियों की उपस्थिति सुनिश्चित हो। साथ ही पंचायत स्तर पर समस्या का समाधान करना सुनिश्चित करें। नहरो की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने सम्बन्धित अधिकारी को निर्देशित किया कि टेल तक पानी पहुचायी जाय तथा नहरो की सफाई भी करायी जाय, इसमें शिकायत आने पर कठोर कार्यवाही की जायेगी। कहा कि किसी भी कृषकों को पानी की समस्या उत्पन्न न हो।

समस्त खण्ड विकास अधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में मनरेगा के माध्यम से सभी तालाबों की खुदाई कराई जाये एवं उनको आकर्षित बनाने के लिए कार्य किये जायें। उन्होंने कहा कि चारागाह स्थलों पर गौशाला एवं गोवंश के लिए चारा उगाने की कार्रवाई की जायेगी। स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि सूची के अनुसार आयुष्मान गोल्डेन कार्ड सभी लोगों का बनवाया जाना सुनिश्चित करें। 

          बैठक में उन्होने उपस्थित अधिकारियों से विभागवार आई0जी0आर0एस0 पोर्टल पर प्राप्त शिकायतों की समीक्षा की तथा शिकायत पत्रो/डिफाल्टर हुए शिकायत पत्रो को तत्काल निस्तारण कराने का निर्देश दिया। कहा कि इसमे किसी प्रकार की लापरवाही क्षम्य नही होगी। उन्होने कहा कि इसकी समीक्षा सीधे शासन स्तर से की जाती है। बैठक मे उन्होने निर्देश दिया कि विभागो द्वारा संचालित योजनाओ का लाभ प्रत्येक दशा मे पात्रो,किसानो/आमजनमानस को उपलब्ध कराया जाय तथा योजनाओ का प्रचार-प्रसार कराते हुए उसकी जानकारी दी जाये।

DM Chandauli Meeting

         बैठक के दौरान ज्वाइंट मजिस्ट्रेट/उप जिलाधिकारी चकिया पीपी मीणा, मुख्य विकास अधिकारी अजितेंद्र नारायण, मुख्य चिकित्साधिकारी वाई के राय, जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी, उप निदेशक कृषि, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी, जिला पूर्ति अधिकारी, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित थे।