जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
बजट के आगमन की प्रतीक्षा में हैं डीएम संजीव सिंह की दो बड़ी उपलब्धि वाली योजनाएं
 तबादले से पूर्व डीएम संजीव सिंह ने वैसे तो चंदौली जनपद के सर्वांगीण विकास के लिए काफी कुछ करने का दावा करते होंगे, लेकिन जाते–जाते संजीव सिंह द्वारा किए गए इन दो कार्यों के लिए चंदौली जनपद अपने इस जिलाधिकारी को याद रखेगा।
 

कार्य योजना बनवाकर जिले से जा रहे संजीव सिंह

बजट के लिए करना होगा इंतजार

तभी जिले को मिलेगा नया विकास भवन व स्टेडियम

चंदौली जिले के जिलाधिकारी संजीव सिंह का शनिवार को तबादला करते हुए वेटिंग लिस्ट में डाल दिया गया। यह खबर मिलते ही डीएम साहब एक्टिव हो गए और अपने कार्यों की डिटेल जानकारी सोशल मीडिया में शेयर करने लगे जबकि यह कार्य कई दिन पहले किए जा चुके है। ऐसा करके वह जिले के लोगों को संदेश देने की कोशिश कर रहे थे कि वह कई ऐतिहासिक कार्य करके जा रहे हैं।

फिलहाल आईएएस अफसर संजीव सिंह को चंदौली से हटाकर सचिवालय भेजा गया है। माना जा रहा है कि पिछले मंत्रियों व अफसरों के दौरे के फीडबैक, नीति आयोग व आंकाक्षात्मक जिले की रैंकिंग, बड़ी योजनाओं के समय पर क्रियान्वयन में फिसड्डी रहने के साथ साथ, जिले में धान खरीद की समस्याओं को हैंडल न कर पाने व किसानों के मुद्दे पर लापरवाही बरतने की शिकायतें शामिल हैं। 

चंदौली जिले में 31 दिसंबर 2020 को फतेहपुर के डीएम रहे संजीव सिंह का तबादला किया गया तो वह 3 जनवरी 2021 को संजीव सिंह ने चंदौली डीएम के रूप में पदभार ग्रहण किया था। अपने लगभग 1 वर्ष 9 माह के कार्यकाल में चंदौली जिले में कोई ऐसी उपलब्धि हासिल न कर सके जिसे वह गिना सकें। इसीलिए जाते जाते साहब ने विकास भवन व स्टेडियम के काम को गिनाने लगे। 

 तबादले से पूर्व डीएम संजीव सिंह ने वैसे तो चंदौली जनपद के सर्वांगीण विकास के लिए काफी कुछ करने का दावा करते होंगे, लेकिन जाते–जाते संजीव सिंह द्वारा किए गए इन दो कार्यों के लिए चंदौली जनपद अपने इस जिलाधिकारी को याद रखेगा।

 विकास भवन का निर्माण 
चंदौली जनपद का गठन 1997 में हुआ था तब से लेकर अब तक लगभग 25 वर्ष का समय बीतने के बाद विकास भवन कृषि विभाग की बिल्डिंग में चल रहा है। अभी तक चंदौली जनपद के विकास भवन का कार्यालय बनवाने के लिए न तो किसी जनप्रतिनिधि ने दिलचस्पी दिखायी न ही किसी जिलाधिकारी ने। इसके लिए जिलाधिकारी संजीव सिंह ने एनएच –2 से संलग्न भूमि का आवंटन विकास भवन के नाम पर करते हुए शासन को विकास भवन निर्माण के लिए प्रस्ताव प्रेषित किया था, जिसके उपरांत शासन द्वारा भूमि की जांच की औपचारिकता भी पूरी कर ली गई है। अब बस शासन द्वारा बजट जारी किया जाना शेष है। इसके बाद ही यह सपना साकार हो पाएगा।


22 करोड़ की लागत से 4 मंजिला विकास भवन
जाते जाते  योजना के नक्शे की तस्वीर शेयर करते हुए जिलाधिकारी संजीव सिंह ने बताया है कि चंदौली जिले में विकास भवन के निर्माण के लिए जो प्रस्ताव शासन को भेजा है, उसमें विकास भवन की इमारत 4 मंजिला होगी। इस इमारत में विकास संबंधित सभी कार्यालयों के इमारत एक साथ होंगे, जिससे आम जन को सभी विभागों के कार्यालय जाने के लिए दर –दर भटकना नहीं पड़ेगा। इस 4 मंजिला इमारत को बनाने के लिए लगभग 22 करोड़ की लागत आएगी। भूमि आवंटन व मृदा परीक्षण के बाद अब विकास भवन से संबंधित सभी बाधाएं दूर हो गई हैं। अब सिर्फ शासन से बजट आते ही निर्माण शुरू हो जाने की संभावना है। 


25 करोड़ से सकलडीहा में जिला स्तरीय स्टेडियम
चंदौली जिले के गठन के 25 वर्ष उपरांत भी जिले के खेल के शौकीन खिलाड़ियों को अपना हुनर निखारने के लिए कोई स्टेडियम नहीं बन पाया था। पहले जिला स्तरीय स्टेडियम की राह देख रहे चंदौलीवासियों को जिलाधिकारी संजीव सिंह व जनप्रतिनिधियों के प्रयास से स्टेडियम निर्माण का भी रास्ता लगभग साफ हो गया है। जिलाधिकारी संजीव सिंह ने जिले में स्टेडियम निर्माण के लिए सकलडीहा विधानसभा के धरहरा में 8 एकड़ जमीन चिन्हित कर खतौनी में स्टेडियम के नाम भूमि आवंटन कराया। स्टेडियम निर्माण के लिए इस मिट्टी का मृदा परीक्षण भी किया जा चुका है। इस जमीन पर स्टेडियम व स्पोर्ट्स अकैडमी के निर्माण के लिए जिलाधिकारी संजीव सिंह ने शासन को 25 करोड़ का प्रस्ताव भेजा है। यह योजना भी बजट के आगमन की प्रतीक्षा में है।

चंदौली जिले की खबरों को सबसे पहले पढ़ने और जानने के लिए चंदौली समाचार के टेलीग्राम से जुड़े।*