जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
कुत्तों के झुंड ने बोला राजन दूबे पर हमला, गंभीर हालत में जिला अस्पताल में हैं भर्ती
ग्रामीण  कुत्तों के भय से छोटे बच्चों को घरों में कैद कर दिया है। यहां तक की बच्चों का स्कूल भी जाना बंद हो गया है। ग्रामीणों ने राहत के लिए वन विभाग व जिला प्रशासन से मदद की गुहार लगाई है। 
 

चंदौली जिले के धानापुर थाना क्षेत्र के मिर्जापुर में गांव के आदमखोर बन गए कुत्तों के हमले में गांव के आधा दर्जन लोग गंभीर रूप से घायल हो गए हैं। गांव के इन आवारा व आदमखोर कुत्तों के आतंक से लोग बीते तीन दिनों से भयभीत हैं। लोग अपने घरों से बाहर हाथों में लाठी व डंड़े लेकर निकल रहे हैं।  

शनिवार की सुबह सात बजे के करीब गांव निवासी रामाज्ञा दूबे का पुत्र राजन दूबे (30) किसी काम को लेकर घर से बाहर निकले। तभी आदमखोर कुत्तो के झूंड़ से राजन दूबे का सामना हो गया। जब तक अपने को संभालते की कुत्तों का झुंड हमलाकर गंभीर रूप से घायल कर दिया। चीख पुकार सुनकर ग्रामीणों ने लाठी-डंडे लेकर जब दौड़े तब जाकर कुत्तों ने राजन दूबे को छोड़ा और सीवान की ओर भागे। 

 घायल अवस्था में परिजनों ने राजन दूबे को धानापुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर ले गए। जहां डाक्टरों ने गंभीर हालत देखकर जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया। 

कहा जा रहा है कि ग्रामीण  कुत्तों के भय से छोटे बच्चों को घरों में कैद कर दिया है। यहां तक की बच्चों का स्कूल भी जाना बंद हो गया है। ग्रामीणों ने राहत के लिए वन विभाग व जिला प्रशासन से मदद की गुहार लगाई है। 

इस संबंध में वन विभाग के रेंजर नित्यानंद पांड़ेय ने कहा कि ऐसे कुत्तों को पकड़ने के लिए हमारे पास कोई कार्य योजना नहीं है। ऐसी स्थिति में गांव वालों की कोई मदद नहीं कर सकते।

चंदौली जिले की खबरों को सबसे पहले पढ़ने और जानने के लिए चंदौली समाचार के टेलीग्राम से जुड़े।*