जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
नगरपालिका में काम की जगह राजनीति करने वालों पर गिरेगी गाज, देखिए शुरू हो गया एक्शन

मुगलसराय में साफ सफाई न होने पर एक्शन, टैक्स वसूलने पर भी हो रही समीक्षा, जानिए किन पर हो रही है कार्रवाई

 

चंदौली जिले के मुगलसराय को जिले का मिनी महानगर कहा जाता है। इसको स्वच्छ व सुंदर बनाने में कोई और नहीं नगरपालिका के वो कर्मचारी ही रोड़ा अटका रहे हैं, जिनके उपर इसकी जिम्मेदारी है। इस काम में लापरवाही बरतने वाले दो सुपरवाइजरों व एक सफाई कर्मी को निलंबित कर दिया गया है। वहीं दो सफाई सुपरवाइजर को नोटिस थमा दी गई है। 

कहा जा रहा है कि कई कर्मचारी यहां पर लंबे समय से जमे सफाई निरीक्षक के निलंबन या स्थानांतरण के लिए शासन को पत्र लिखा जा रहा है, ताकि कामचोर व राजनीति करने वाले कर्मचारियों को हटाकर नए कर्मचारियों की तैनाती किया जा सके। 

मुगलसराय में निरीक्षण के दौरान अधिशासी अधिकारी कृष्णचंद्र को कई खामियां मिली थीं। इसके बाद कार्रवाई का चाबुक चलने लगा है। अचानक एक साथ पांच कर्मियों पर कार्रवाई होने से नगरपालिका के कर्मचारियों में हड़कंप मचा हुआ है।

नगर को साफ सुथरा बनाए रखने के लिए नगर पालिका परिषद में भारी भरकम सफाई कर्मियों की फौज है। इसके बावजूद कर्मी काम कम व राजनीति में ज्यादा दिलचस्पी रखते हैं। इसीलिए वे अपने जिम्मेदारी वाले काम करने में लापरवाही बरतते हैं। पालिका ने डोर-टू-डोर कूड़ा उठाने की भी व्यवस्था की है। इसके अलावा जगह-जगह डस्टबिन में लगाए गए हैं। नगर के कुछ दुकानदारों व लोगों की भी अनदेखी से नगर को स्वच्छ व सुंदर बनाने में दिक्कत होती है। 

नगर पालिका के ईओ ने सफाई व्यवस्था को लेकर सख्त निर्देश जारी किया था। विगत दिनों वह अचानक सफाई व्यवस्था का जायजा लेने के लिए निकले। जगह-जगह कूड़े का अंबार व नाली नालियां जाम मिली तो सफाई निरीक्षक सुनील कुमार के स्थानांतरण या निलंबन के लिए शासन को पत्र भेजा। वहीं लालबहादुर शास्त्री कटरे में गंदगी मिलने पर सफाई नायक व सफाई कर्मी को पर भी कार्रवाई की गई।

टैक्स की समीक्षा करने की योजना

नगर में सफाई व्यवस्था की पोल खुलने के बाद अब अधिशासी अधिकारी टैक्स विभाग की भी समीक्षा करने की योजना बनायी जा रही है, ताकि लापरवाहों पर नकेल कसी जा सके। सबसे पहले आवास में कामर्शियल बिल्डिंग बनाकर काम करने वालों को चिह्नित किया जाएगा। वसूली की रिपोर्ट देखी जाएगी। अगर वसूली में खामियां मिली तो संबंधित अधिकारी व कर्मचारी पर भी गाज गिरनी तय होगी। समीक्षा की भनक लगने के बाद कर्मी अभिलेखों को भी दुरुस्त करने में लगे हुए हैं।


 

चंदौली जिले की खबरों को सबसे पहले पढ़ने और जानने के लिए चंदौली समाचार के टेलीग्राम से जुड़े।*