जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
9 मई दिन सोमवार को चंदौली आ रहे अखिलेश यादव, पीड़ित परिवार से करेंगे मुलाकात

 आपको बता दें कि समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के दौरे के बारे में जानकारी देते हुए समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता मनोज सिंह काका ने कहा था कि राष्ट्रीय अध्यक्ष की इस पूरी घटना पर नजर है और  वह पल पल की अपडेट पार्टी के लोगों से ले रहे हैं। 

 

मामले में और गरमाएगी राजनीति

 जारी है पुलिस व सरकार पर दबाव बनाने की पहल

 फरार हैं आरोपी इंस्पेक्टर व पुलिस वाले

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव चंदौली जिले के दौरे पर जाने वाले हैं। उनका कार्यक्रम और प्रोटोकाल भी जारी हो गया है। पूर्व मुख्यमंत्री के निजी सचिव गंगाराम के द्वारा जारी प्रोटोकाल के अनुसार वह 9 मई को दोपहर बाद चंदौली जिले में पहुंचेंगे। उनके इस कार्यक्रम की जानकारी प्रदेश के आला अधिकारियों के साथ साथ जिला अधिकारी चंदौली और पुलिस अधीक्षक चंदौली को दी गई है। ताकि उनकी सुरक्षा के उचित प्रबंध किए जा सकें।

Tour Progrme

 बताया जा रहा है कि पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, उत्तर प्रदेश में नेता विरोधी दल भी हैं। वह 9 मई दिन सोमवार को चंदौली जनपद के दौरे के दौरान सैयदराजा थाना इलाके के मनराजपुर गांव में जाएंगे और पीड़ित परिवार के लोगों से मुलाकात करेंगे। वह जिले में दोपहर बाद लगभग 3:00 बजे के आसपास चंदौली जिले में पहुंचेंगे और पीड़ित परिवार के लोगों से मुलाकात के बाद सुविधा अनुसार प्रस्थान करेंगे।

 आपको बता दें कि समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के दौरे के बारे में जानकारी देते हुए समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता मनोज सिंह काका ने कहा था कि राष्ट्रीय अध्यक्ष की इस पूरी घटना पर नजर है और  वह पल पल की अपडेट पार्टी के लोगों से ले रहे हैं। 

जिले में बड़ी बेटी निशा की मौत के दूसरे दिन से ही पिता आमरण अनशन कर रहे हैं। उन्होंने अन्न-जल त्याग रखा है और कहा है कि जब तक उनकी बेटी के हत्यारों को जेल नहीं भेजा जाएगा, वह अपना अनशन नहीं तोड़ेंगे। वह आखिरी सांस तक बेटी के लिए इंसाफ की लड़ाई लड़ते रहेंगे। इस मामले में दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ धारा 302 के तहत मुकदमा दर्ज होना चाहिए और उनकी गिरफ्तारी होनी चाहिए। 

आपको बता दें कि बीते रविवार को मनराजपुर गांव में बालू कारोबारी और जिला बदर कन्हैया यादव के घर पुलिस दबिश देने गई थी। घर में उस समय केवल दो लड़कियां थीं। परिवार के लोगों का आरोप है कि पुलिस ने उनकी बेटी निशा उर्फ गुड़िया को इतना पीटा कि उसकी मौत हो गई है। इसके बाद थानाध्यक्ष को हटाते हुए उनके खिलाफ कार्रवाई शुरू की गयी है।