जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
विश्वविद्यालय की परीक्षा में नकल , स्टेटस लगाने वाले मनोज यादव के खिलाफ कार्यवाही की मांग
बीए प्रथम वर्ष के छात्र मनोज यादव द्वारा परीक्षा के दौरान मोबाइल से फोटो लेने व उसको वाट्सअप स्टेटस पर लगाकर परीक्षा व्यवस्था को चुनौती देने के मामले में कार्रवाई करने की मांग की है।
 

अमिताभ ठाकुर ने की छात्र के खिलाफ कार्रवाई की मांग

परीक्षा केन्द्र की ओर से भी शुरू हुयी जांच

चंदौली जिले में महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ की परीक्षा के दौरान मोबाइल लेकर परीक्षा का स्टेटस लगाकर नकलविहीन परीक्षा धज्जी उड़ाने वाले छात्र के खिलाफ अमिताभ ठाकुर और डॉ नूतन ठाकुर ने वाराणसी पुलिस कमिश्नर व चंदौली के पुलिस अधीक्षक से कार्रवाई की मांग की है।

महात्मा गाँधी काशी विद्यापीठ, वाराणसी के बीए प्रथम वर्ष के छात्र मनोज यादव द्वारा परीक्षा के दौरान मोबाइल से फोटो लेने व उसको वाट्सअप स्टेटस पर लगाकर परीक्षा व्यवस्था को चुनौती देने के मामले में कार्रवाई करने की मांग की है। मनोज यादव के द्वारा परीक्षा के दौरान अपनी फोटो तथा उत्तर पुस्तिका का फोटो सार्वजनिक किये जाने पर कार्यवाही की मांग की है।

अमिताभ ठाकुर व नूतन ठाकुर ने पुलिस कमिश्नर वाराणसी सहित अन्य सीनियर अफसरों को जनसुवाई पोर्टल सहित अन्य माध्यमों से प्रेषित शिकायत में कहा कि उन्हें आज एक युवक द्वारा अपने व्हाट्सएप पर लगाया गया स्टेटस प्राप्त हुआ है, इस स्टेटस में वह युवक परीक्षा केंद्र में बैठा दिख रहा है। साथ ही लिखी हुई एक उत्तर पुस्तिका भी दिख रही है तथा उस के साथ ऊपर महात्मा गाँधी काशी विद्यापीठ वाराणसी के नाम सहित उत्तर पुस्तिका का पहला पृष्ठ दिख रहा है । उन्होंने कहा कि यह युवक बीए प्रथम वर्ष का छात्र मनोज यादव पुत्र सुरेंद्र यादव बताया गया है।  जिसका परीक्षा केंद्र संख्या 246, चंदौली का है।

अमिताभ और नूतन ने विश्वविद्यालय की परीक्षा में इस प्रकार मोबाइल लेकर जाने तथा वहां परीक्षा के दौरान फोटो खींच कर उसे सार्वजनिक किये जाने को एक गंभीर मामला बताया है और कहा है कि इससे काशी विश्वविद्यालय की परीक्षा में भारी गड़बड़ी की आशंका दिख रही है। अतः उन्होंने मामले में तत्काल जाँच कर एफआईआर दर्ज कर कठोर विधिक कार्यवाही किये जाने की मांग की है।

वहीं इस संबंध में (केंद्र कोड 246) विजय बहादुर डिग्री कॉलेज बबुरी चंदौली के प्रबंधक राकेश कुमार गिरी ने बताया कि ऐसा मामला मेरे संज्ञान में मीडिया के माध्यम से आया है। जिसकी  जांच कराई जाएगी और उस दिन शिक्षाशास्त्र की प्रायोगिक पेपर हुए थे, जिसमें  यह छात्र सम्मिलित हुआ था। इस मामले में कल जांच कर संबंधित दोषी लोगों के खिलाफ वैधानिक कार्यवाही की जाएगी। ऐसे कृत करने वालों के खिलाफ एफआईआर एवं परीक्षा की विश्वसनीयता पर प्रश्नचिन्ह लगाने वाले के खिलाफ कठोर से कठोर विद्यालय प्रशासन द्वारा कार्यवाही करने के कार्य किया जाएगा। ताकि भविष्य में ऐसी किसी और घटना की पुनरावृत्ति न हो सके।

चंदौली जिले की खबरों को सबसे पहले पढ़ने और जानने के लिए चंदौली समाचार के टेलीग्राम से जुड़े।*