जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
बाढ़ के हालात से निपटने की पूरी है तैयारी, ये हैं जिला प्रशासन की व्यवस्थाएं
फिलहाल पुराने रिकॉर्ड के अनुसार जिले में कुल 334 गांव बाढ़ से प्रभावित होते हैं, जहां जिलाधिकारी के आदेश पर विशेष सर्तकता रखी जा रही है।
 

चंदौली जिले में कुल 44 चौकियां स्थापित

334 गांवों पर रहती है बाढ़ से प्रभावित होने की आशंका

पुलिस-प्रशासन व पीएसी भी अलर्ट मोड में

चंदौली जनपद में लगातार बढ़ते गंगा और अन्य नदियों के जलस्तर को देखते हुए जिला प्रशासन सतर्क हो गया है। बाढ़ से बचाव और निगरानी के लिए जिले में 44 चौकियां बना दी गई हैं, जिससे किसी आपातस्थिति से निपटा जा सके। फिलहाल पुराने रिकॉर्ड के अनुसार जिले में कुल 334 गांव बाढ़ से प्रभावित होते हैं, जहां जिलाधिकारी के आदेश पर विशेष सर्तकता रखी जा रही है।

बताया जा रहा है कि जिले में अब तक केवल 324 मिमी वर्षा हुई है। यहां की मुख्य नदियां गंगा, कर्मनाशा, गड़ई और चंद्रप्रभा हैं। जिनके जलस्तर बढ़ने से गंगा नदी से 120 ,कर्मनाशा से 85, गड़ई नदी से 44 और चंद्रप्रभा से 85 कुल 334 गांव बाढ़ से प्रभावित होते हैं। वर्तमान समय में गंगा का जलस्तर 65.26 मीटर है। जलस्तर बढ़ने की आशंका के बीच प्रशासन पहले से ही सतर्क है और जिले में कुल 44 बाढ़ चौकियां सक्रिय कर दी गई हैं।

Flood Preparation DM Chandauli Police PAC Alert

कहा जा रहा है कि सकलडीहा तहसील में गंगा नदी के अंतर्गत 15, पं. दीनदयाल नगर के छह, कर्मनाशा नदी के अंतर्गत चकिया में छह और चंदौली में छह, चंद्रप्रभा नदी अंतर्गत चंदौली में तीन और चकिया में पांच, गड़ई नदी के क्षेत्र में चंदौली में दो और चकिया में एक चौकी को सक्रिय कर दिया गया। 

साथ ही साथ बाढ़ बचाव के लिए 120 मेगा फोन, 120 हेलमेट, 120 लाइफ जैकेट, 120 फोल्डेबल स्ट्रेचर, 82 नाव आपदा से बचाव के लिए तैयार किए गए है। चौकियों पर 23 प्रशिक्षित अधिकारियों और कर्मचारियों के साथ 23 गोताखोर भी लगाए गए हैं।

इसके अलावा बाढ़ की आशंका को देखते हुए जिला प्रशासन की ओर से पीएससी 34 और 36 बटालियन की 54 मोटर बोट, 162 लाइफ जैकेट, 162 लेफ्ट बेल्ट वाटर टेंडर, 45 लीटर का ए वाटर टेंडर, दो हजार लीटर का दो उपलब्ध करा दिया गया है। यही नहीं जिला कंट्रोल रूम की भी स्थापना की जा चुकी है। इसका नंबर 05412 -262557 है। अभी तक 1556 सूखा पैकेट के साथ-साथ सभी तैयारी पूरी हो चुकी है। 

जिले के जिलाधिकारी संजीव सिंह का दावा है कि जनपद में बाढ़ की विभीषिका को देखते हुए सभी तैयारी पूरी हो चुकी हैं। साथ ही संबंधित तहसीलों के उप जिलाधिकारियों व इससे जुड़े लोगों को निर्देशित किया गया है कि वह हमेशा सतर्क रहें। वही गंगा के बढ़ते जल स्तर पर नजर रखी जा रही है। ताकि किसी आपातस्थिति से तत्काल निपटा जा सके।

चंदौली जिले की खबरों को सबसे पहले पढ़ने और जानने के लिए चंदौली समाचार के टेलीग्राम से जुड़े।*