जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
तहसील के आधा दर्जन गांव में तहसीलकर्मियों ने उड़ा ड्रोन, शुरू हुआ घरौनी देने का काम
राजस्व व ड्रोन टीम ने 120 मीटर ऊपर से दो किलोमीटर की दूरी तक ड्रोन उड़ाकर सर्वे किया। 
 

आबादी की भूमि का घरौनी तैयार करने के लिए सर्वे

प्रत्येक भूखंड का तैयार होगा 13 अंकों का यूनिक आइडी नंबर 

चंदौली जिले की पंडित दीनदयाल उपाध्याय नगर तहसील क्षेत्र के आधा दर्जन गांव में शनिवार को राजस्व विभाग की टीम ने ड्रोन कैमरे से स्वामित्व योजना के तहत गांवों में आबादी की भूमि का घरौनी तैयार करने के लिए सर्वे किया। ड्रोन कैमरे को देखने के लिए ग्रामीणों की भीड़ जुट गई।


घरौनी में संपत्ति के स्वामी का जिला, तहसील, ब्लाक, थाना, ग्राम पंचायत का नाम दर्ज होगा। प्रत्येक भूखंड का 13 अंकों का यूनिक आइडी नंबर भी इसमें अंकित किया जाएगा। सर्वे के दौरान ड्रोन कैमरे से इन गांवों के मकानों को कैमरे में कैद किया गया। राजस्व व ड्रोन टीम ने 120 मीटर ऊपर से दो किलोमीटर की दूरी तक ड्रोन उड़ाकर सर्वे किया। 

बताया जा रहा है कि इस दौरान राजस्वकर्मियों ने तहसील के आवासीय परिसर व पचोखर गांव से ड्रोन उड़ाया। इसमें जगदीशपुर उर्फ भटरिया, नियामताबाद, सिकंदरपुर, पचोखर, तकिया व नरैना गांव का सर्वेक्षण किया गया। मकान के ऊपर से उड़ रहे ड्रोन कैमरे को देखने के लिए गांवों के लोग घर के बाहर निकल आ रहे थे। ड्रोन को संकेत के लिए चयनित गांवों की गलियों में सफाई कर्मियों ने चूने का छिड़काव सुबह ही कर दिया था।

 ड्रोन कैमरे को संचालित करने वाले कर्मचारियों ने उन्हीं रास्ते से गांवों में पहुंच कर सर्वे किए। टीम प्रभारी दिनेश सिंह ने बताया कि स्वामित्व योजना के तहत गांव की आबादी क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को दी जाने वाली घरौनी ग्रामीण आवासीय अभिलेख में उसकी आवासीय संपत्ति का पूरा ब्योरा दर्ज होगा। ग्रामीणों को घरौनी मुहैया कराने की प्रक्रिया को अमली जामा पहनाने के लिए शासन ने उत्तर प्रदेश आबादी सर्वेक्षण व अभिलेख संकलित कर रहा है।

 टीम में लेखपाल शैलेंद्र शंकर सिंह, रितेश पांडेय, सांदली कुमारी, नीतू मौर्या, ग्लोरी सिंह आदि शामिल रहे।

चंदौली जिले की खबरों को सबसे पहले पढ़ने और जानने के लिए चंदौली समाचार के टेलीग्राम से जुड़े।*